कारगर साबित हुई आईएएस की गोली मारने की धमकी

preeti-maithil-ias-shot-dead-threat-is-success-transfer-as-a-collector

भोपाल| कमलनाथ सरकार ने ब्यूरोक्रेसी की बड़ी सर्जरी करते हुए कई कलेक्टर को इधर से उधर किया है। इन तबादलों में चौंकाने  वाला नाम रीवा की कलेक्टर प्रीति मैथिल का है जिन्हें रीवा के बजाय अब सागर जिले का कलेक्टर बनाया गया है। विधानसभा चुनाव में मतदान के और मतगणना के बीच में अपने एक बयान को लेकर प्रीति मैथिल काफी चर्चाओ में रही थी। उस समय प्रीति ने अपने सुरक्षाकर्मियों से कहा था कि EVM के पास कोई आए तो गोली मार देना. इतना ही नहीं  प्रीति  ने यह भी कहा था कि ये चुनाव मेरे लिए मामूली है, इस फिजूल के चक्कर में 25 साल की साख ख़राब नहीं करूंगी. मुझे आगे प्रिंसिपल सेकेट्री चीफ सेकेट्री बनना है. निर्वाचन ये मेरे लिए कुछ नहीं है। 

प्रीति के इस बयान का वीडियो वायरल होने के बाद काफी किरकिरी हुई थी और चुनाव आयोग ने भी इस मामले में उन से सफाई मांगी थी। मजे की बात यह है कि रीवा जिले से कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया यानी एक भी विधानसभा सीट पर कांग्रेस नहीं जीत पाई। प्रीति के इस गैर जिम्मेदाराना बयान पर कार्रवाई करना तो दूर ,सरकार ने उल्टे उन्हें अब सागर जिले की जिम्मेदारी सौंपी है