ब्यूरोक्रेसी में बड़े बदलाव की तैयारी, हटाए जा सकते है मुख्य सचिव और डीजीपी

Preparations-for-major-changes-in-the-bureaucracy-can-be-removed

भोपाल।

प्रदेश में सरकार बदलने के साथ ही राज्य शासन में मुख्य सचिव और डीजीपी को बदले जाने की अटकले तेज हो गई है। मुख्य सचिव बंसत प्रताप सिंह का बढ़ाया गया अतिरिक्त कार्यकाल 31 दिसंबर को पूरा हो रहा है। इसी के साथ नये मुख्य सचिव की तलाश भी तेज हो गई है। वही स्वास्थ्य कारणों की वजह से पुलिस महानिदेशक ऋषि शुक्ला को भी बदलने की संभावना है। 

खबर है कि कांग्रेसी मुख्यमंत्री के शपथ लेते ही सबसे पहले कार्यवाहक सीएम शिवराज के प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल और सीएम सचिवालय व निवास के कुछ अधिकारियों (संविदा समेत) को हटाया जाएगा। चुंकी वर्णवाल पूर्व में कमलनाथ के पीएस रह चुके हैं। उनकी जगह प्रमुख सचिव आईसीपी केशरी, मलय श्रीवास्तव या संजय बंदोपाध्याय को जिम्मेदारी दी जा सकती है। इसी बीच नए मुख्य सचिव का भी चयन हो जाएगा, क्योंकि वर्तमान  मुख्य सचिव बीपी सिंह का बढ़ा हुआ कार्यकाल 31 दिसंबर को पूरा हो रहा है।वही स्वास्थ्य कारणों की वजह से पुलिस महानिदेशक ऋषि शुक्ला को भी बदले जाने की खबर है।

इसके साथ ही कई विभागों में लंबे समय से एक ही स्थान पर जमे अफसरों और एक दर्जन जिलों के कलेक्टरों को भी बदले जाने की कवायद तेज है । इसके अलावा मुख्य सचिव बीपी सिंह का कार्यकाल इसी माह समाप्त हो रहा है। इसके चलते नई सरकार में मुख्यमंत्री की ताजपोशी के साथ ही नया मुख्य सचिव नियुक्त भी नियुक्त होने की पूरी संभावना है। माना जा रहा है कि सबसे वरिष्ठ आईएएस और माध्यमिक शिक्षा मंडल के अध्यक्ष एसआर मोहंती, चिकित्सा शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव राधेश्याम जुलानिया और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस में से किसी एक को नया मुख्य सचिव बनाया जा सकता है।

बता दे कि चुनाव से पहले कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने अधिकारियों और कर्मचारियों को चेतावनी देते हुए कहा था कि मैनें प्रदेश के कई अधिकारियों से बात की है और मुझे उन पर विश्वास है कि वो अपने काम और वर्दी की इज्जत रखेंगे। सबको ये याद रखना चाहिए कि 11 के बाद 12 तारीख भी आएगी।आखिराकर कमलनाथ प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाने में कामयाब रहे और अब अधिकारियों पर कार्रवाई होना तय है।