निजी स्कूल बच्चों का डाटा कोचिंग संस्थानों को कर रहे शेयर, परिजनों पर बना रहे एडमिशन का दबाव

मामले में मध्य प्रदेश बाल संरक्षण आयोग (Madhya Pradesh Commission For Protection of Child Rights) ने कलेक्टर को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की है।

स्कूल शिक्षा विभाग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल में कुछ प्राइवेट स्कूलों (Private school) द्वारा कोचिंग संस्थानों को बच्चों का निजी डाटा शेयर करने के मामले में मध्य प्रदेश बाल संरक्षण आयोग (Madhya Pradesh Commission For Protection of Child Rights) ने कलेक्टर को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की है। बाल संरक्षण आयोग ने बताया कि प्राइवेट स्कूल कोचिंग संस्थानों(Coaching Institute) को बच्चों का डाटा (Data) दे रहे है। इसके वजह से कोचिंग सेंटर(Coaching institute) के संचालक परिजनों को और विद्यार्थियों को फोन कर के कोचिंग में एडमिशन(Admission) के लिए दबाव बना रहे है। इससे परिजन मानसिक रूप से परेशान और चिंतित हो रहे हैं।

ये भी पढे़- Coronavirus: आज से भोपाल-इंदौर में नाइट कर्फ्यू, अन्य जिलों में भी सख्ती, ये है नई गाइडलाइन

बाल संरक्षण आयोग ने कलेक्टर को लिखे में पत्र में बताया कि प्राइवेट स्कूलों द्वारा निजी जानकारी शेयर(Share) करने की वजह से साइबर क्राइम(Cyber Crime) को भी बढ़ावा मिल रहा है। आयोग ने आगे कहा कि इस तरह की जानकारी सार्वजनिक करना कानूनन दंडनीय अपराध है। इसलिए हमारा कलेक्टर से अनुरोध है कि इस मामले की जांच करें और ऐसा करने वाले स्कूलों को खिलाफ कानूनी कार्रवाई करें, ताकि आगे से कोई भी प्राइवेट स्कूल इस तरह की हरकत न करें।

ये भी पढे़- Satna News: सीमेंट कंपनी में पाइप फटने से हुआ बड़ा हादसा, दो मजदूरों की मौत