मीसाबंदियों को लेकर यह क्या बोले मंत्री सज्जन वर्मा…देखिये वीडियो

PWD-minister-sajjan-singh-verma-controversial-statement

भोपाल/आष्टा। मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकान ने सत्ता में आते ही मीसाबंदियों की पेंशन पर रोक लगा दी है। जिसे लेकर प्रदेश भर में सरकार के खिलाफ मीसाबंदी प्रदर्शन कर रहे हैं। दूसरी ओर नवागत लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने विवादास्पद बयान दिया है। उन्होंने मीसाबंदियों की तुलना गुंडे, बदमाश और हत्यारों से कर डाली। जिसे लेकर विवाद बढ़ गया है। यह बात उन्होंने आष्टा पहुंचने पर कही। 

उन्होंने कहा कि, “मैं याद दिला दूं पुराने जमाने में आज से 14 साल पहले शिवराज जब मुख्यमंत्री बने थे मैं जब विधायक था, हमारी सरकार नहीं थी भाजपा की सरकार थी। शिवराज ने जब घोषणा कि की मीसाबंदियों को स्वंत्रता संग्राम सेनानियों का दर्जा देकर उन्हें पेंशन दी जाएगी। उसी वक्त मैंने उनका भाषण रोक कर उनकी इस घोषणा के खिलाफ बोला था। मैंने कहा था कि ये महान स्वंत्रता संग्राम सेनानियों का अपमान है कि जिन्होंने देश से अंग्रेजों को भगाया है। इस मीसा में कई गुंडे, लुटेरे, बदमाश बंद हुए हैं यदि उन्हें स्वंत्रता संग्राम सेनानियों का दर्जा दिया जाएगा तो जो ऊपर बैठे हैं स्वंत्रता संग्राम सेनानी उनकी आत्मा भी ये सुनकर रोएगी। इसलिए मैंने पहले भी विरोध किया था और आज भी विरोध करता हूं। हमारी सरकार ने आदेश निकाल दिया है तो अब इसे अंजाम तक पहुंचा जाएगा।” 

मंत्री बनने के बाद सज्जन सिंह वर्मा रविवार को आष्टा पहुंचे थे। उन्होंने यहां पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह ने 21  हजार घोषणा की लेकिन पूरी नहीं की। हम घोषणा नहीं काम करेंगे। भाजपा से बगावत कर निर्दलीय चुनाव लड़ी जिला पंचायत अध्यक्ष उर्मिला मरेठा भी कोंग्रेसीयो के साथ दिखीं। मंत्री वर्मा ने कहा कि अब उर्मिला भी साथ आ गईं हैं। 

जगह जगह हुआ स्वागत

मध्यप्रदेश सरकार के लोकनिर्माण मंत्री सज्जन वर्मा पहुँचे आष्टा आष्टा बाईपास चौपाटी और अलीपुर चोरहा लोकनिर्माण अधिकारी कर्मचारी व पुराने बस स्टेण्ड आष्टा पर मंत्री का कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने  साफा पहनाकर पुष्प वर्षा कर जगह जगह किया भव्य स्वागत किया। सज्जन वर्मा सोनकच्छ विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं।  कांग्रेस सरकार बनने के साथ लोकनिर्माण व पर्यावरण मंत्री बनने के बाद पहली बार आष्टा पहुँचे। आष्टा पहुँचने पर कार्यकर्ताओं में उत्साह दिखाई दिया। आष्टा के सुभाष ग्राउंड में लेदर बाल क्रिकेट का राष्ट्रीय गीत के साथ शुभारम्भ किया गया।