राहुल गांधी की लंच पॉलिटिक्स, किसानों के लिए दिए ये खास निर्देश

rahul-gandhi-lunch-politics-in-mp-

भोपाल। सरकार गठन के बाद दूसरी बार भोपाल आये कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कम समय में भी लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को अपनी रणनीति से अवगत करा दिया| सभा स्थल पर पहुँचने से पहले  स्टेट हैंगर पर उन्होंने सभी बड़े नेताओं के साथ लंच किया लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी का भावी एजेंडा बता दिया| इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि 22 फरवरी से प्रदेश किसानों को कर्ज माफी के प्रमाणपत्र अनिवार्य रुप से वितरित किए जाएं। उन्होंने बैठक में किसान कर्ज माफी की समीक्षा की। राहुल गांधी कमलनाथ सरकार के कामकाज से खुश नजर आए। उन्होंने सरकार के कामों की तारीफ करते हुए संतोष व्यक्त किया। 

राहुल गांधी के इस लंच में सिर्फ सीएम कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया, विधानसभा अध्यक्ष एन पी प्रजापति, उपाध्यक्ष हिना कांवरे और गोविंद सिंह समेत 10 नेता मौजूद थे. राहुल गांधी ने इन नेताओं से लोकसभा चुनाव की तैयारी और मौजूदा स्थिति पर लंबी चर्चा की. बैठक के बाद विधान सभा उपाध्यक्ष हिना कांवरे ने संकेत दिए कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी शिवराज सरकार के घोटालों को मुद्दा बनाएगी|

इस बैठक में मौजूद रही विधानसभा उपाध्यक्ष हिना कांवरे ने बताया कि राहुल गांधी ने बैठक में सरकार के कामों का फीडबैक लिया। साथ ही वचन पत्र में किए गए वादों को पूरा करने और जनता के बीच लोकसभा चुनाव से पहले अधिक से अधिक वादों को पूरा करने के लिए कहा है। उन्होंने बैठक में मैजूद नेताओं के साथ लंच भी किया। इस बैठक में सीएम कमलनाथ, कांग्रेस प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया और महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद रहे। 

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने किसानों की कर्जमाफी का वादा किया था| हालाँकि किसानों का कर्ज दस दिन माफ़ किया जाना था लेकिन ऐसा नहीं हुआ| सिर्फ आदेश जारी हुए| कर्जमाफी के लिए लम्बी प्रक्रिया से गुजरना पड़ रहा है|  इस बड़ी घोषणा में कोई देरी न हो जिसके चलते राहुल गांधी ने सीएम कमलनाथ को जल्द से जल्द किसानों को लाभ दिए जाने के निर्देश दिए हैं| वहीं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ न अफसरो को निर्देश दिए हैं कि वह 22 फरवरी से बैंक में कर्ज की राशि जमा करना शुरू कर दें।