संसद में साध्वी ने घेरा तो राहुल बोले-‘बयान पर कायम, नही मांगूंगा माफी’

भोपाल/नई दिल्ली।

नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ बताकर विवादों में घिरी बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने पार्टी की नाराजगी के बाद आज शुक्रवार को संसद में माफी मांग ली है। साध्वी ने कहा कि मेरे बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया। अगर किसी को ठेस पहुंची है तो मैं माफी मांगती हूं। वही साध्वी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के द्वारा उन्हें ‘आतंकी’ कहने पर घेरते हुए कहा कि कोर्ट में मेरे खिलाफ कोई आरोप साबित नहीं हुआ है। इसके बावजूद मुझे आतंकी कहना गैरकानूनी है। यह एक महिला, एक संन्यासी और एक सांसद का अपमान है। इस पर राहुल गांधी ने पलटवार किया है।राहुल ने साफ शब्दों मे किसी से भी माफी मांगने पर इंकार कर दिया है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने साफ कर दिया है कि वह साध्वी प्रज्ञा पर दिए गए बयान को वापस नहीं लेंगे। उन्होंने  कहा कि मैंने अपनी स्थिति साफ कर दी है।  मैं अपने बयान पर कायम हूं और माफी नहीं मागूंगा।साध्वी के माफी मांगने के बाद आज शुक्रवार को संसद परिसर में संवाददाताओं से चर्चा करते हुए राहुल ने कहा कि गोडसे भी हिंसा का प्रयोग करता था और यह (प्रज्ञा) भी हिंसा का प्रयोग करती हैं। यह पूछे जाने पर क्या वह प्रज्ञा को ‘आतंकवादी’ बताने वाली टिप्पणी पर कायम हैं तो राहुल ने कहा,  हां। जो मैंने ट्वीट पर लिखा है, उस पर कायम हूं।उन्होंने यह भी कहा प्रज्ञा ने वही कहा है जिसमें वह विश्वास करती हैं।अपने खिलाफ विशेषाधिकार प्रस्ताव लाने की भाजपा की मांग के बारे में पूछे जाने पर गांधी ने कहा कि इससे उन्हें कोई समस्या नहीं है।

बता दे कि गुरुवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने साध्वी पर ट्वीट कर हमला करते हुए उन्हें आतंकी बताया था।राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा था आतंकी प्रज्ञा ने आतंकी गोडसे को देशभक्त बताया’, ‘भारत की संसद के इतिहास में ये एक दुखद दिन है।