शहीद कि मुखाग्नि में देरी से पहुंचना संवेदनहीनता की पराकाष्ठा: राहुल कोठारी

rahul-kothari-attack-on-cm-kamalnath

भोपाल। मध्य प्रदेश के वीर सपूत के अंतिम संस्सकार में मुख्यमंत्री कमलनाथ के देरी से पहुंचने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। भाजपा ने इस पूरे घटना क्रम को संवेदनहीनता की पराकाष्ठा बताया है। बीजेपी नेता और प्रवक्ता राहुल कोठारी ने एक बयान जारी कर मुख्यमंत्री पर निशाना साधा है। 

उन्होंने कहा कि, ‘जहां एक ओर अमर शहीद अश्विन कुमार का पार्थिव शरीर सुबह 8 बजे कटनी हेली पैड पहुंच गया था और वहां से शहीद के पैतृक गांव खुदावल के लिए प्रस्थान किया गया, लेकिन प्रशासन के अधिकारियों ने पूरी यात्रा को न केवल धीरे धीरे चलने पर मजबूर किया। अपितु दोपहर 1 बजे खुदावल  पहुंचने के बावजूद दाह संस्कार शाम 4 बजे संपन्न कराया गया। ताकि मुख्यमंत्री संस्कार में हिस्सा ले सकें, क्योंकि कमलनाथ जी कैबिनेट की मीटिंग न्यायालय के कार्यक्रम एवं जबलपुर में जनसभा में देर होने के कारण दाह संस्कार पूर्ण होते समय स्थल पर पहुंच पाए। वहां पर कमलनाथ मुर्दाबाद के नारे भी लगाए गए। उन्होंने पुष्प चक्र वित्त मंत्री श्री तरुण भनोट को सौंप कर और 10 मिनट शहीद के पिताजी के पास बैठकर वापस निकलना उचित समझा। पूरा घटनाक्रम ना केवल कमलनाथ जी बल्कि कांग्रेस पार्टी की मानसिकता पर भी प्रश्नचिन्ह खड़ा करता है।