मध्य प्रदेश में बढ़ने लगी ठंड, अगले 24 घंटे में इन जिलों में बारिश की संभावना

भोपाल। मध्य प्रदेश में अब बारिश का दौर लगभग खत्म हो चुका है। गुलाबी ठंड ने दस्तक देना शुरू कर दी है। शाम के समय पारा लुढ़कने से ठंड का एहसास हो रहा है। बूंदाबांदी रुकने से बादल छटे हैं और धूप निकलने से लोगों को राहत मिली है। अरब सागर में बना कम दबाव का क्षेत्र अब दूसरी ओर ओमान की तरफ जा रहा है। इसी प्रकार बंगाल की खांडी में भी बना कम दबाव का सिस्टम नीचे दक्षिण की तरफ जाने लगा है।  इन दोनों सिस्टम से नमी कम आ रही है। इसी वजह से आकाश में छाये बादलों का डेरा भी हटने लगा है। हालांकि अगले चौबीस घंटों में कहीं कहीं बूंदाबांदी हो सकती है।

इस बीच भोपाल में दिन का पारा के मुकाबले छह डिग्री उछला और अधिकतम तापमान 29.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ, जो सामान्य से दो डिग्री कम है। भोपाल में दीपावली के दिन भी बादल छाए रह सकते हैं, जबकि जबलपुर, मंडला सहित पूर्वी मप्र के कई इलाकों में हल्की बारिश होने की संभावना है। साथ ही, अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टम के चलते कम दबाव का क्षेत्र बना है। इसी वजह से प्रदेशभर में छाए बादलों की ऊंचाई 450 मी. दर्ज की गई है। वातावरण में नमी पहले से है।

यहां हुई हल्की बूंदाबांदी

खकनार में 9 मिमी, बुरहानपुर में 6़ 6 मिमी, पंधाना में 5़ 8 मिमी, वरला में 4़ 3 मिमी, खंडवा एवं नेपानगर में 4 मिमी, बैतूल में 1 तथा जबलपुर में 0़ 5 मिमी वर्षा हुई है। अगले चौबीस घंटों में भी प्रदेश में कई स्थानों पर बादल छाये रहेंगे और भोपाल सहित कहीं कहीं बूंदाबांदी या हल्की वर्षा हो सकती है। भोपाल में शुक्रवार को अधिकतम तापमान 27़ 7 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ जो सामान्य से तीन डिग्री कम है, जबकि न्यूनतम 19़ 2 रहा। यह सामान्य से दो डिग्री ज्यादा है। प्रदेश में सबसे कम न्यूनतम तापमान 14 डिग्री ग्वालियर और बैतूल में अंकित हुआ है।