कांग्रेस जिला अध्यक्ष का इस्तीफ़ा, जिले की पूरी कार्यकारिणी भंग

राजगढ़, डेस्क रिपोर्ट
राजगढ़ (Rajgarh) जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नारायणसिंह आमलाबे (Narayan Singh) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है| स्वास्थ्य कारणों के चलते उन्होंने जिला अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दिया है, जिसे पार्टी ने स्वीकार कर लिया है| विधानसभा चुनाव से पहले ही उन्हें जिला अध्यक्ष की कमान सौंपी गई थी| आमलाबे राजगढ़ से सांसद रह चुके हैं और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के करीबी माने जाते हैं|

नारायणसिंह आमलाबे का इस्तीफ़ा पार्टी ने स्वीकार कर लिया है| चंद्रप्रभाष शेखर उपाध्यक्ष संगठन प्रभारी द्वारा जारी पत्र में कहा गया है कि आपके द्वारा स्वास्थ्य कारणों से स्वेच्छा पूर्वक जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजगढ़ के पद पर इस्तीफा दिए जाने का आग्रह प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ जी को प्राप्त हुआ है| आपके आग्रह को स्वीकार करते हुए कमलनाथ जी ने जिला कांग्रेस अध्यक्ष पद पर रहते हुए आपके द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की है| पत्र में यह भी कहा गया है कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा राजगढ़ जिले की पूरी कार्यकारिणी भंग की जाती है, साथ ही राजगढ़ जिले में संगठन से संबंधित सभी विभाग, मोर्चा संगठनों को भी भांग किया जाता है|

बता दें कि वर्ष 2009 के लोकसभा चुनाव में श्री आमलाबे को पार्टी ने तत्कालीन भाजपा प्रत्याशी और दिग्विजयसिंह के छोटे भाई लक्ष्मणसिंह के सामने लोकसभा चुनाव में उतारा था। इसमें श्री आमलाबे विजय हुए, इसके बाद श्री दांगी को जिलाध्यक्ष बनाया गया था। जिला कांग्रेस कमेटी के नौ साल तक अध्यक्ष रहे रामचंद्र दांगी की जगह 2018 में पूर्व सांसद नारायणसिंह आमलाबे को जिलाध्यक्ष बनाया गया था| अब उन्होंने जिला अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है|

कांग्रेस जिला अध्यक्ष का इस्तीफ़ा, जिले की पूरी कार्यकारिणी भंग