जो पैसे देकर पत्थर फिकवाते थे,वो अब विजुअल बनवाने की बात कर रहे: राकेश सिंह

rakesh-attack-on-gulaam-nabi-azaad-

भोपाल।

कांग्रेस सांसद और राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाकार अजित डोभाल के वीडियो पर सवाल उठाने के बाद सियासत गर्मा गई है। बीजेपी लगातार आजाद पर हमले कर रही है। अब बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने आजाद पर निशाना साधा है। सिंह का कहना है कि आजाद को सोचना चाहिए कि जो पैसे देकर पत्थर फिकवाते थे वो अब पैसे लेकर विजुअल बनवाने की बात कह रहे हैं।

दरअसल, हाल ही में अजित डोभाल का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें वो जम्मू-कश्मीर में आम लोगों के साथ सड़क पर खाना खाते नजर आ रहे थे। गुलाम नबी आजाद ने इसी वीडियो को लेकर डोभाल पर निशाना साधा है और कहा है कि वह पैसे देकर किसी को भी साथ ला सकते है।  गुलाम नबी आजाद ने डोभाल पर निशाना साधते हुए कहा, ‘पैसे देकर आप किसी को भी साथ ला सकते हो’।जिस पर राकेश सिंह ने कहा कि गुलाम नबी आजाद को सोचना चाहिए कि जो पैसे देकर पत्थर फिकवाते थे वो अब पैसे लेकर विजुअल बनवाने की बात कह रहे हैं। उन्हे अच्छे काम में भी यही लगेगा। कश्मीर को असली आजादी अब मिली है। ये नेता अब 370 की आड़ में राजनीतिक रोटियां नहीं सेक पाएंगे। आजाद का बयान दुर्भाग्यपूर्ण है।

उमा-शिवराज के बाद नरोत्तम के समर्थन में उतरे 

पूर्व मुख्यमंत्री उमाभारती और शिवराज सिंह चौहान के बाद राकेश सिंह ने ई-टेंडरिंग में लगातार उठ रहे सवालों पर नरोत्तम का समर्थन करते हुए कहा कि प्रदेश की कांग्रेस की सरकार कैसी भी जांच करे हमें कोई परेशानी नहीं है। हमने पहले ही कहा है जांच से ��ाजपा को कोई डर नहीं है। उन्होने कहा कि नरोत्तम मिश्रा को जान बूझकर परेशान किया जा रहा है। भाजपा इसे बर्दाश्त नहीं करेगी। नरोत्तम मिश्रा मजबूती से अपने काम में लगे रहेंगे।

नारायण के ट्वीट पर बोले-सभी एकजुट

वही उन्होंने बीजेपी से बागी हुए विधायक नारायण त्रिपाठी के धारा 370  पर समर्थन वाले ट्वीट को लेकर कहा कि हमारे विधायक एकजुट हैं, हम पहले से ही कहते आ रहे हैं। नारायण त्रिपाठी ने ट्वीट करके धारा 370 हटाने पर अमित शाह की तरीफ की है। अभी तो सभी लोग सामने नही आएं हैं। कांग्रेस 370 की आड़ में राजनीति की रोटियां सेंक रही थी।

ये है वीडिया वाला पूरा मामला

 लोकसभा और राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर 370 को लेकर पुनर्गठऩ बिल पास हो चुका है और महामहिम रामनाथ कोविंद भी हस्ताक्षर कर चुके है। सूत्रों की मानें तो यह बिल 6 अगस्त से लागू हो जाएगा। इस बिल के दोनों सदनों से पास होने के बाद NSA प्रमुख अजित डोभाल जम्मू-कश्मीर का जायजा लेने गए, इसके साथ ही उन्होंने वहां रह रहें लोगों को जागरूक करने की भी कोशिश की। जिसका एक वीडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें डोभाल एक ठेले पर बिरयानी खाते हुए दिखाई दे रहे है, जहां उनके साथ कुछ लोग मौजूद है, जिसे वे 370 पुनर्गठन बिल के बारे में समझा रहे है। डोभाल के इस वीडियो को आड़े हाथों लेते हुए राज्यसभा में विपक्ष के नेता एवं कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने इस वीडियो के लिए डोभाल पर पैसे देने का आरोप लगाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here