राजधानी में बेखौफ हैं बदमाश, डाक्टर के घर डाली डकैती; पुलिस के सामने भागे बदमाश

भोपाल। बैरसिया थाना इलाके में कल शाम को एक डाक्टर के घर चार नकाब पोश बदमाशों ने डकैती डाल दी। एक आरोपी बाहर खड़ा निगरानी कर रहा था। आरोपियों ने विरोध करने पर डाक्टर के सिर में चाकू मार दिया, उनकी पत्नी की कान की बाली खींचकर छीन ली। जिससे पत्नी की कान लोह कट गई। आरोपी यहां से नकदी, जेवरात और मोबाइल सहित करीब 70-80 हजार का माल लेकर चंपत हुए हैं। फरियादी का आरोप है कि डायल 100 का सायरन सुन बुदमाश भागे थे। पुलिसकर्मियों को आरोपियों को भागते हुए दिखाया गया था। इसके बाद भी पुलिस ने बदमाशों का पीछा नहीं किया। वहीं बैरसिया पुलिस ने इस मामले में साधारण मारपीट का मुकदमा दर्ज किया है।

जानकारी के अनुसार विश्वजीत सरकार पिता ज्योतिष सरकार (48)निवासी आरामशीन के पास तिरुपति कॉलोनी बैरसिया फस्ट ऐड डाक्टर हैं। उन्होंने बताया कि कल शाम को सवा सात बजे घर में थे। इस समय पत्नी रूपा सरकार,बड़ी बेटी रूबी सरकार, छोटी बेटी रानी सरकार और बेटा रूद्र सरकार घर में थे। सभी घर को सजाने का काम कर रहे थे। तभी चार नकाबपोश बदमाश कट्टे,तलवार और चाकू से लैस होकर उनके घर में घुस आए। आरोपियों ने कहा की आवाज निकाली तो अंजाम बुरा होगा। विश्वजीत ने इसका विरोध किया तो उनके सिर तथा हाथ पर आरोपियों ने तलवार से वार कर दिए। चीख पुकार की आवाज सुनकर किचन में काम रही पत्नी बचाव में आई तो बदमाशों ने कट्टे की बट से उनकी कनपटी पर वार कर दिया। इसके बाद में पत्नी के कान में पहनी बालियों को खींचकर निकाला, जिससे पत्नी के कान जख्मी हो गए। बाद में बदमाशों ने पूरे घर की तलाशी ली। फरियादी से ही अलमारी की चाबी ली और उसमे रखे जेवरात, साढ़े तीन हजार की नकदी लेकर बदमाश चंपत हो गए। जिसकी कुल कीमत करीब 70-80 हजार रूपए बताई जा रही है। फरियादी का कहना है कि एक बदमाश इस पूरे घटनाक्रम के दौरान घर के बाहर खड़ा निगरानी कर रहा था। उसी ने सायरन की आवाज आने के बाद मामले की जानकारी बदमाशों की तब सभी आरोपी फरार हो गए।

– कट्टे की नोक पर बच्चों को बंधक बनाया

फरियादी ने बताया कि जब आरोपी घर में दाखिल हुए थे, उस समय उनकी बेटी रानी और बेटा रूद्र घर एक कमरे में चले गए थे। वहां एक बदमाश ने कट्टे की नोक पर दोनों को बंधक बना लिया। खामोश खड़ा रहने के लिए कहा गया। इस दौरान दूसरे बदमाश घर की तलाशी लेते रहे। पूरा घटनाक्रम उन्होंने पुलिस को बताया था। फरियादी का कहना है कि इसके बाद भी पुलिस ने साधारण मारपीट का प्रकरण दर्ज किया।

– बेटी ने कॉल कर पुलिस को दी थी सूचना

बड़ी बेटी रूबी ने किसी तरह से छिपकर डायल 100 पर कॉल कर दिया था। करीब आधे घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस वाहन दूर से ही सायरन बजाता हुआ आया। जिसकी आवाज सुनकर आरोपी फरार हो गए। विश्वजीत का कहना है कि उनका मकान एकांत में एक खेत में बना हुआ है। आरोपी पुलिस के सामने ही भागते हुए साफ दिखाई दे रहे थे। उन्होंने पुलिस से आरोपियों का पीछा करने का कहा। फरियादी खुदक कुछ दूर तक उनके पीछे भागा भी। पुलिस जवानों ने कहा की पहले इलाज कराए फिर देखते हैं। इसके बाद में डायल 100 से ही उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया।