‘मिलावटखोरों’ पर रासुका की कार्रवाई, आजीवन कारावास की सजा देने होगा संशोधन

rasuka-action-on-adulterants-in-madhya-pradesh

भोपाल| गृह मंत्री बाला बच्चन ने एसटीएफ को मिलावट खोरो के विरूद्ध रासुका में सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिये हैं। बच्चन ने बताया कि चंबल क्षेत्र के अलावा महाकौशल, मालवा और विंध्य क्षेत्र से भी सिंथेटिक दूध, मावा और पनीर बनाने की लगातार शिकायतें प्राप्त हो रहीं थीं। इन शिकायतों के आधार पर ही कठोर कार्यवाही की गई है। उन्होंने बताया कि उत्तरप्रदेश व पश्चिम बंगाल की तरह मध्यप्रदेश में भी संशोधन, प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। इसके बाद मिलावटखोरों को आजीवन कारावास की सजा से दंडित किया जा सकेगा।

गृह मंत्री ने बताया कि प्रदेश में मिलावटखोरों के विरूद्ध कठोर कार्रवाही की जा सके इसके लिये खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम की विभिन्न धाराओं में उप पुलिस अधीक्षक और उससे वरिष्ठ स्तर के पुलिस अधिकारियों को मिलावटखोरों के विरूद्ध कार्रवाई करने के लिये अधिकृत किया गया है।

भिंड-मुरैना में जेल भेजे आरोपी

मुरैना जिले के अम्बाह में वन खडेश्वरी डेयरी में छापेमारी की कार्यवाही की गई है। फैक्ट्री के मालिक देवेन्द्र गुर्जर को जेल भेजा गया है। इस फैक्ट्री से 12 हजार लीटर सिंथेटिक दूध और 2 हजार 500 लीटर कच्चा सिंथेटिक दूध जप्त किया गया है। भिण्ड जिले के लहार में गिर्राज फूड सप्लायर्स की फैक्ट्री में छापेमारी की कार्यवाही की। इस फैक्ट्री से 500-500 लीटर के 3 दूध टैंकर्स की जप्ती की गई। संचालक संतोष सिंह के विरूद्ध कठोर कार्रवाही की जा रही है। लहार में ही गोपाल आईस फैक्ट्री में भी जप्ती की कार्यवाही की है। इस फैक्ट्री में 2000 लीटर सिंथेटिक दूध, 1000 किलो सिंथेटिक मावा और 1500 किलो सिंथेटिक पनीर जप्त किया गया है। इस फैक्ट्री में 30 लोगों के विरूद्ध गिरफ्तारी की कार्यवाही की गई है। लहार में नवीन सप्लायर के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की गई है। मुरैना के अम्बाह में अग्रवाल लेबोरेटरी से 500 टिन सोयाबीन ऑयल, 200 बोतल रेंजी शैम्पू तथा अन्य कैमिकल्स की जप्ती की है।