Bribe : लोकायुक्त के शिकंजे में फंसा सरकारी प्रेस का रीडर, रिश्वत लेते रंगेहाथों पकड़ाया

संतोष को रेखा ने रिश्वत दी लोकायुक्त की पुलिस ने आरोपी को 3000 रुपए रिश्वत राशि लेते रंगे हाथ पकड़ा।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल (bhopal) में लोकायुक्त (lokayukta) की टीम ने कार्रवाई करते हुए शासकीय मुद्रणालय भोपाल में प्रूफ रीडर संतोष रैकवार को तीन हजार रुपए की रिश्वत (Bribe) लेते रंगे हाथ गिरफ्तार (Arrested) किया है। बता दें कि आरोपी प्रूफ रीडर ने नाम संशोधन का गजट नोटिफिकेशन के लिए महिला अधिवक्ता से पांच हजार रूपए रिश्वत की मांग की थी। जिसकी शिकायत पर लोकायुक्त पुलिस (Lokayukta Police) ने कार्रवाई की है ।

यह भी पढ़ें…“डेंगू पर प्रहार” महाअभियान का शुभारंभ, बैतूल में सांसद, कलेक्टर ने अपने हाथों से किया दवा का छिड़काव

लोकायुक्त के डीएसपी डॉ सलिल शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि भोपाल की गौतम नगर निवासी शिकायतकर्ता अधिवक्ता रेखा जैन 14 सितंबर को शिकायत की थी। उन्होंने शिकायत में बताया था कि वह जिला न्यायालय भोपाल में अधिवक्ता है और अपने बैतूल निवासी क्लाइंट मारुति और अमृत धोट के नाम के संशोधन के लिए गजट नोटिफिकेशन कराना था। जिसके एवज में भोपाल शासकीय मुद्रणालय के प्रूफ रीडर संतोष रैकवार ने उनसे पांच हजार रूपए की रिश्वत मांगी थी। जिसके बाद उन्होंने पैसे कम करने को कहा था तो सौदा 3 हजार हुआ।

अधिवक्ता की शिकायत के बाद लोकायुक्त पुलिस ने जांच की और शिकायत सही पाई गई। उसके बाद आज दोपहर में अधिवक्ता रेखा रिश्वत लेकर संतोष रैकवार के कार्यालय पहुंची। जैसे ही संतोष को रेखा ने रिश्वत दी लोकायुक्त की पुलिस ने आरोपी को 3000 रुपए रिश्वत राशि लेते रंगे हाथ पकड़ा।

यह भी पढ़ें… Bhopal News : चंदा लेने के बहाने में नाबालिग से गैंगरेप, 3 गिरफ्तार