साल के आखिरी दिन रिश्वत लेते रंगेहाथों पकड़ा गया आरआई

मंडला| मध्यप्रदेश के मंडला जिले में लोकायुक्त की टीम ने आर आई और उसके एक साथी को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। मकान पट्टा के नवीनीकरण के लिए यह रिश्वत मांगी गई थी, जिसकी शिकायत फरियादी ने जबलपुर लोकायुक्त को की थी। आरोपियों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। 

जानकारी के मुताबिक रमेश वैष्णव निवासी कोष्टा मोहल्ला मंडला को मकान के पट्टा का नवीनीकरण करना था। नवीनीकरण के लिए चक्कर काटने के बाद फरियादी इस सम्बन्ध में आरआई महेन्द्र सिंगौर से संपर्क में आया| महेन्द्र सिंगोर ने फरियादी से इसके बदले 25 हजार रिश्वत की मांग की । फरियादी रमेश ने परेशान होकर इसकी शिकायत लोकायुक्त को कर दी । 

शिकायत की तस्दीक के बाद लोकायुक्त की टीम ने प्लान बनाया| महेन्द्र सिंगौर को रिश्वत देने के लिए फरियादी ने हामी भर दी। भूअभिलेख शाखा में रिश्वत देना तय हुआ।  रमेश वैष्णव ने आरआई महेन्द्र सिंगोर के साथी मोहित पटले को 17 हजार रुपए की रिश्वत दी । वहीं पहले से तैयार  लोकायुक्त की टीम ने दोनो केा रंगे हाथ रिश्वत लेते हुये पकड़ लिया। आरोपियों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 7, 13 (एक)(बी) के तहत कार्रवाई की गई है।