Usha Thakur
Usha Thakur

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। उत्तराखंड (Uttarakhand) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) तीरथ सिंह रावत के फंटी जींस वाले बयान को लेकर सियासत गरमाई हुयी है। साथ ही इस बयान की वजह से तीरथ को सोशल मीडिया (Social media) पर काफी विरोध का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन, अब इस बहस में मध्य प्रदेश की संस्कृति मंत्री उषा भी शामिल हो गई है। भाजपा सरकार की मंत्री का कहना है कि लड़कियों को मर्यादा में रहना चाहिए, भारतीय संस्कृति में फटे कपड़े पहनना अपशकुन माना जाता है।

ये भी पढे़मध्यप्रदेश के छात्रों को तोहफा देने की तैयारी में शिवराज सरकार, कार्य प्रगति पर

संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने आगे कहा कि वह तीरथ सिंह की बात से पूरा इत्तेफाक रखती हैं। उनका कहना है कि लड़कियों को रिप्ड जींस नहीं पहनना चाहिए, भारतीय संस्कृति में फटे हुए कपड़ों को पहनना अपशकुन माना गया है। इतना ही नहीं उषा ठाकुर ने तो लड़कियों को मर्यादा में रहने की नसीहत भी दे डाली। इसके साथ उन्होंने कहा कि वैसे भी एमपी की लड़कियां मर्यादा में रहती हैं, लेकिन जो फटे कपड़े पहन रही हैं उन्हें अपनी संस्कृति और संस्कारों की चिंता करना चाहिए।

इससे पहले कमल पटेल ने किया था बयान का समर्थन

इससे पहले कृषि मंत्री कमल पटेल (Kamal Patel) ने उनकी इस बात पर समर्थन किया था। दरअसल शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत करते वक्त उन्होंने कहा कि इस बयान को विवाद का विषय नहीं बनाना चाहिए। क्योंकि यह हमारी संस्कृति और सभ्यता के सम्मान से जुड़ा हुआ है और जिनको फटे कपडे पसंद हैं वे पहने, लेकिन कपड़े फटे रहेंगे तो उस पर नजर जाएगी।

ये भी पढे़– अपनों ने ही ली नाबालिग की जान, पुलिस ने किया खुलासा, 5 आरोपी गिरफ्तार

उत्तराखंड सीएम तीरथ सिंह ने बयान के लिए मांगी थी माफी
बता दें कि जिस बयान पर इतना बवाल हो रहा है उसमें उत्तराखंड (Uttarakhand) के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह ने कहा था कि लड़कियों को फटी हुई जींस नहीं पहननी चाहिए। इससे लोगों की नजर उन पर जाती है। उन्होंने अपनी एक हवाई यात्रा के दौर महिला के फटी जींस पहनने का जिक्र करते हुए कहा था कि आप इस तरह के पहनावे से समाज में क्या संदेश देना चाहती हैं? उनके इस बयान की देशभर में कड़ी निंदा हो रही है। उसके बाद तीरथ सिंह रावत ने अपने बयान पर मांफी भी मांग ली है।