RSS--Arun-Kumar-sent-to-city-to-keep-eye-on-poll-affairs

भोपाल। बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के लिए अब संघ पूरी तरह सक्रिय हो गया है। ऐसा पहली बार हुआ है जब संघ ने अपने किसी केंद्रीय नेता को प्रचार के लिए चुनाव में भेजा है। यही नहीं संघ ने अपने स्वयं सेवकों को पूरे प्रदेश में भेज कर बीजेपी के लिए प्रचार करनी की जिम्मेदारी सौंपी है। वहीं, भोपाल सीट के लिए बागडोर आरएसएस के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार को दी गई है। 

यह पहली बार है जब आरएसएस ने अपने किसी राष्ट्रीय स्तर के पदाधिकारी को चुनाव में ड्यूटी पर तैनात किया है। प्रज्ञा ने शुक्रवार को कुमार से भी मुलाकात की और चुनाव पर चर्चा की। कुमार ने प्रज्ञा को लोगों को विचारधारा का प्रचार करने का तरीका भी बताया। कुमार राष्ट्रवादी विचारधारा वाले लोगों से मिलकर भोपाल में प्रज्ञा के लिए अनुकूल वातावरण विकसित करने में मदद करेंगे। कुमार आरएसएस की रणनीति भी तय करने जा रहे हैं और प्रज्ञा के चुनावों के लिए आरएसएस नेताओं को जिम्मेदारियां सौंप रहे हैं। चुनाव प्रचार के दौरान कुमार, जैसा कि चुनावों के दौरान उठाए जाने वाले मुद्दों के बारे में गहरी जानकारी रखते हैं। आरएसएस ने प्रज्ञा के साथ बाल आयोग के अध्यक्ष राघवेंद्र शर्मा को भी ड्यूटी पर रखा है। शर्मा आरएसएस और प्रज्ञा के बीच समन्वय का काम देख रहे हैं।

कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को भोपाल सीट से अपना उम्मीदवार जब से बनाया है तभी से आरएसएस ने मोर्चा संभाल लिया है। प्रज्ञा को बीजेपी द्वारा आरएसएस की सिफारिश पर भोपाल सीट से टिकट दिया गया है। आरएसएस ने भी उसकी जीत सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी ली है। आरएसएस द्वारा प्रज्ञा को समर्थन दिया है। संघ के फैसला के खिलाफ जाने की किसी नेता में हिम्मत नहीं हो रही। इससे पहले, स्थानीय नेता भोपाल सीट से किसी बाहरी व्यक्ति को टिकट देने का विरोध कर रहे थे, लेकिन आरएसएस की तस्वीर में आने के बाद, उन्होंने प्रज्ञा की जीत सुनिश्चित करने के लिए सभी से हाथ मिलाया।