आरटीओ के सॉफ्टवेयर में आई खामियां, इश्यू नहीं हो पा रहे परमिट

RTO-office-new-tax-software

भोपाल। मप्र परिवहन विभाग ने आदेश के बाद प्रदेशभर में टैक्स चोरी रोकने के लिए सॉफ्टवेयर अपग्रेड कराया गया है। क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय में भी टैक्स चोरी रोकने से संबंधित सॉफ्टवेयर अपग्रेड हो चुका है। लेकिन सॉफ्टवेयर में कई खामियों की वजह से टैक्स कैलकुलेशन में अत्याधिक गड़बड़ी सामने आ रही हैं। सॉफ्टवेयर आने वाली खामियों की वजह से आरटीओ में परमिट से संबंधित कार्य भी प्रभावित हो रहा है। वाहन मालिकों के साथ आरटीओ कर्मचारियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सॉफ्टवेयर से किया गया टैक्स कैलकुलेशन कई प्रकार से गड़बड़ी सामने आ रही है। किसी वाहन के परमिट का टैक्स ज्यादा आ रहा है, तो किसी वाहन का टैक्स पात्रता से भी कम आ रहा है। 

इस तरह की परेशानी क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय में पिछले तीन-चार दिनों से आ रही है। टैक्स कैलकुलेशन में होने वाली गड़बड़ी की वजह से वाहन मालिकों को परमिट बनवाने में भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं आरटीओ के अधिकारियों का कहना है सॉफ्टवेयर मेें टैक्स कैलकुलेशन से संबंधित कई प्रकार की गड़बड़ी सामने आई है। सॉफ्टवेयर की इन परेशानियों जल्द ही दूर कर लिया जाएगा। गौरतलब है आरटीओ रोजाना लगभग 50 से 60 परमिट बनाए जाते है, लेकिन सॉफ्टवेयर में आने वाली खामियों की वजह सेे परमिट इश्यू नहीं हो पा रहा है और वाहन मालिकों की लंबी कतारें आरटीओ ऑफिस में लग रही हैं। वहीं परमिट लेने आए वाहन मालिकों का कहना है कि सॉफ्टवेयर में कई तरह की गड़बड़ी होने की वजह से उन्हें समय पर परमिट जारी नहीं हो पा रहे है, जिसकी वजह से हमें काफी नुकसान हो रहा है। 

इनका कहना है

टैक्स चोरी रोकने के  लिए सॉफ्टवेयर अपग्रेड कराया है। यह बात सही है कि सॉफ्टवेयर में कई तरह की खामियां सामने आ रही है। मेरी सॉफ्टवेयर अपग्रेड करने वाली कंपनी से बात हो गई है और सॉफ्टवेयर में आने वाली इन खामियों को आज शाम तक दूर कर लिया जाएगा। 

संजय तिवारी, प्रभारी, आरटीओ