मंदिरों का सोना कांग्रेस की बपौती नही, अब लुटने नही देंगे: रामेश्वर शर्मा

भोपाल| महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण (Prithviraj Chavan) के कोरोना संकट (Corona Crisis) के दौरान देश के सभी धार्मिक ट्रस्टों में रखे सोने के भंडार का इस्तेमाल करने वाले बयान पर सियासत गरमा गई है। इस बयान को लेकर भाजपा अब चव्हाण पर हमलावर है| हुजूर विधायक एवं भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा (Rameshwar Sharma) ने चव्हाण पर पलटवार किया है|

विधायक शर्मा ने कहा कि मंदिरों से सोना लेने के बारे में सोचने से पहले पृथ्वीराज जी को कम से कम अपने “पृथ्वीराज” नाम का तो सम्मान करना था । शर्मा ने कहा कि कांग्रेस को हिन्दुओ के मंदिरों को सोना और पैसा तो दिखायी देता है पर मस्जिदों और वक्फ बोर्ड की खरबो की जमीन पर उनकी नज़र क्यों नही जाती ? मंदिर का सोना कांग्रेस की बपौती नही है कांग्रेस ने इसे खूब लूटा है अब लुटने नही देंगे ।

रामेश्वर शर्मा ने कहा कि कोरोना संकट की घड़ी में देश भर के मंदिरों द्वारा करोड़ो रुपए का दान प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा कराया गया हज़ारो भंडारे निर्वाद रूप से आज भी चल रहे है । परन्तु देश की किसी मस्जिद ने प्रधानमंत्री राहत कोष में एक रुपए का दान नही दिया . इसलिए कांग्रेस को अपना ज्ञान बांटने की शुरुआत इन्ही से करनी चाहिए कांग्रेस को अपने मुगल संस्कारो को छोड़कर हिन्दुओ के संस्कार में रचना बसना चाहिए|