सड़क हादसें में बेटे की मौत से दुखी माँ ने की आत्महत्या, जहर खाकर दी जान

भोपाल,डेस्क रिपोर्ट। भोपाल के राजीव नगर में रहने वाली 49 साल की छाया दोगने ने जहर खाकर जान दे दी। वह चार माह से बेहद तनाव से गुजर रही थी। दरअसल भोपाल के बिलखिरिया इलाकें में हुए एक सड़क हादसे में उनके इकलौते बेटे की मौत हो गई थी। बेटे की मौत ने उन्हें बुरी तरह तोड़ दिया। वह मानसिक तनाव में चली गई थी। शुक्रवार की शाम को अचानक छाया की तबीयत बिगड़ी जब उन्हें अस्पताल ले जाया गया। लेकिन इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। पुलिस ने मर्ग कायम कर पोस्टमार्टम के बाद शनिवार को शव उनके परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

Tokyo Olympics 2020 : नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास, जेवलिन थ्रो में भारत को मिला पहला गोल्ड मेडल

अयोध्या नगर थाने की पुलिस के अनुसार छाया दोगने गृहणी थी। उनके पति नारायण दोगने सतपुड़ा भवन में लोकनिर्माण विभाग से सेवानिवृत हैं। उनका इकलौता बेटे निश्चल दोगने का अप्रैल 2021 में बिलखिरिया इलाके में सड़क हादसे में मौत हो गई थी। बेटे की मौत के बाद से वह काफी तनाव में रहने लगी थी। ज्यादा किसी से बात नहीं करती थी। उन्हें बेटे की मौत का काफी सदमा लगा था, जिसको वह अपने दिमाग से निकाल नहीं पा रही थी, अधिकांश समय वह उसे याद कर रोती रहती थी। उनके परिजनों ने उनको काफी समझाने की कोशिश की लेकिन वह बेटे को भूल नहीं पा रही थी। शुक्रवार शाम को उन्होंने घर में रखा जहरीला पदार्थ खा लिया। जब उनकी तबीयत बिगड़ी, तब उन्होंने परिजनों को इसके बारे में बताया। उनको आनंद नगर स्थित गायत्री अस्पताल ले जाया गया। जहां देर रात उन्होंने दम तोड़ दिया।