साधु-संतो ने उपचुनाव से पहले शिवराज सरकार के खिलाफ मोर्चा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एमपी (MP) में जब जब चुनाव हुए है तब तब संतो ने सरकार के लिए मुश्किलें खड़ी की है।फिर चाहे 15 साल प्रदेश पर राज करने वाली शिवराज सरकार (Shivraj government) हो या 15 महिने सत्ता पर काबिज होने वाली कमलनाथ सरकार (Kamalnath government)। खास करके कम्प्यूटर बाबा (Computer baba) दोनों सरकारों के लिए मुसीबत ही बने रहे।एक बार फिर मध्यप्रदेश में होने वाले उपचुनाव (By-election) से पहले प्रदेश के साधु-संतों ने शिवराज सरकार की चिंता बढ़ा दी है।

दरसअल कंप्यूटर बाबा ने साधु संतों ( saints) के साथ लोकतंत्र को बचाने के लिए भाजपा सरकार के खिलाफ उतरने का बड़ा एलान कर दिया है।कंप्यूटर बाबा ने साफ कहा है कि प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी (BJP) वाली शिवराज सरकार के खिलाफ संत समाज लोकतंत्र को बचाने के लिए मैदान में उतरकर प्रचार प्रसार करेगा।

कंप्यूटर बाबा ने बताया कि वो साधू संतों के साथ 22 सितंबर को मंदसौर से भाजपा के खिलाफ प्रचार अपने अभियान का आगाज करेंगे।जिसका समापन भिंड में होगा। कंप्यूटर बाबा ने शिवराज सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी ने लोकतंत्र की हत्या करके सरकार बनाई है।बीजेपी सरकार के संरक्षण में बड़े पैमाने पर प्रदेश में रेत उत्खनन का कारोबार फल-फूल रहा है। बाबा ने कहा की सीएम के गृह जनपद सीहोर के जैत में बड़े पैमाने पर अवैध रेत का कारोबार जारी है। और रेत के अधिकांश कारोबार में सीएम के रिश्तेदार सलग्न है।