शिवराज को अंजाम भुगतने की चेतावनी दे चुकी हैं साध्वी

Sadhvi-has-warned-Shivraj-to-suffer-the-consequences

भोपाल

भले ही शहीद हेमंत करकरे को लेकर दिए गए विवादित बयान पर साध्वी प्रज्ञा ने यू-टर्न ले लिया हो लेकिन चुनाव से पहले उनके द्वारा दिए गए श्राप की चर्चा जोरों पर है। सड़क से लेकर सोशल मीडिया पर उनके बयान का विरोध हो रहा है, हालांकि यह पहला मौका नही है जब साध्वी ने इस तरह का बयान दिया हो या श्राप की बात कही हो, इसके पहले भी वह पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज को अंजाम भुगतने की चेतावनी दे चुकी है।हालांकि तब साध्वी बीजेपी में शामिल नही हुई थी।

दरअसल, मामला दो साल पुराना है। मालेगांव ब्लास्ट केस में क्लीन चिट पाने के बाद साध्वी प्रज्ञा ने जब सिंहस्थ कुंभ में स्नान के लिए प्रदेश की शिवराज सरकार से अनुमति मांगी थी, लेकिन सरकार ने मना कर दिया था।लेकिन साध्वी प्रज्ञा सिंहस्थ कुंभ में स्नान की जिद पर अड़ी पर थीं, लेकिन शिवराज सरकार ने सुरक्षा का हवाला देकर उन्हें इजाजत नहीं दी थी, जिसके बाद सोमवार से साध्वी भूख हड़ताल पर बैठ गई थीं। इस बीच ये मामला अदालत तक पहुंचा और अदालत ने उन्हें सिंहस्थ कुंभ जाने की इजाजत दे दी,इसके बाद भारी सुरक्षा के बीच साध्वी उज्जैन पहुंची  और क्षिप्रा नदी में डुबकी लगाई। इसके बाद साध्वी ने तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर बड़ा हमला बोला था। उस दौरान साध्वी ने अपनी इस हालात के लिए शिवराज को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने कहा था कि जिन लोगों ने मुझे परेशान किया है उनका नेता शिवराज हैं और उनको इसका अंजाम भुगतना पड़ेगा।

शहीद को लेकर दिया था विवादित बयान, फिर लिया यू-टर्न

इससे पहले शुक्रवार को साध्वी ने शहीद हेमंत को लेकर विवादित बयान दिया था। साध्वी ने कहा था कि  26/11 के मुंबई हमले में शहीद हुए एटीएस चीफ हेमंत करकरे को उनके कर्मों की सजा मिली है, उनके कर्म ठीक नहीं थे, इसलिए उन्हें संन्यासियों का श्राप लगा था। जिस दिन मैं जेल गई थी उसके 45 दिन के अंदर ही आतंकियों ने उसका अंत कर दिया। इसके बाद सियासी बवाल मच गया था। कांग्रेस ने साध्वी के बयान पर आपत्ति जताते हुए इसे शहीद का अपमान बताया था, वही मराठी समाज ,आईपीएस एसोशिएसन ने भी नाराज हो गया था। वही बीजेपी ने भी बयान से पल्ला झाड़ लिया था।इधर चुनाव आयोग ने भी मामले को संज्ञान में लेते हुए जांच शुरु कर दी है। हालांकि बढ़ते विवाद के बाद साध्वी ने यू टर्न ले लिया है। साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि यदि उनके बयान से किसी को ठेस पहुंची है तो वो उसे वापस लेती हूं।  माफी मांगती हूं, यह मेरी निजी पीड़ा थी।

  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here