साध्वी के फिर बिगड़े बोल, कहा- बाबरी मस्जिद का ढांचा गिराने पर मुझे गर्व है, EC ने थमाया नोटिस

sadhvi-pragya-says-i-am-proud-of-babri-masjid-demolition

भोपाल।

भोपाल से  चर्चित लोकसभा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा इन दिनों अपने बयानों से सुर्खियों में छाई हुई है। शहीद हेमंत करकरे पर विवादित बयान देने के बाद साध्वी के बोल फिर बिगड़ गए है। साध्वी का कहना है  हम मंदिर का निर्माण करेंगे, आखिरकार, हम ढांचा (बाबरी मस्जिद) को ध्वस्त करने के लिए भी तो गए थे। ढांचे पर चढ़कर उसे तोड़ा। साध्वी के बयान के बाद सियासत में जमकर भूचाल मच गया है। वही आयोग ने मामले पर तुरंत संज्ञाने लेते हुए आचार संहिता उल्लंघन का नोटिस जारी किया है।

दरअसल,  शनिवार को कैंपेन के दौरान एक टीवी चैनल में दिए हुए इंटरव्यू में साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि राम मंदिर निश्चित रूप से बनाया जाएगा। यह एक भव्य मंदिर होगा। यह पूछे जाने पर कि क्या वह राम मंदिर बनाने के लिए समयसीमा बता सकती हैं, तो प्रज्ञा ने कहा हम मंदिर का निर्माण करेंगे। आखिरकार, हम ढांचा (बाबरी मस्जिद) को ध्वस्त करने के लिए भी तो गए थे. अयोध्या में विवादित ढांचा गिराए जाने को लेकर उन्होंने दावा किया कि विवादित ढांचे को मैं तोड़ने गई थी, ढांचे पर चढ़कर उसे तोड़ा। साध्वी यहीं नहीं रुकी, उन्होंने आगे कहा ढांचा तोड़ने का मुझे भयंकर गर्व है। ईश्वर ने मुझे अवसर और शक्ति दी थी, इसलिए मैंने यह काम कर दिया। मैंने देश का कलंक मिटाया था।

साध्वी के बयान के बाद फिर बवाल मच गया है। राजनैतिक गलियाओं में बयानबाजी का दौर तेजी से चल रहा है। हालांकि यह पहला मौका नही है जब साध्वी ने इस तरह का विवादित बयान दिया हो। एक दिन पहले ही मुंबई आतंकवादी हमले में शहीद हेमंत करकरे को लेकर साध्वी के बयान से देश की सियासत में भूचाल आ गया था, इसके बाद उन्हें माफी भी मांगनी पड़ी थी।वही आयोग ने भी मामले को संज्ञान में लेते हुए उन्हें नोटिस जारी किया था, जिसका जवाब उन्हें 24  घंटे में देना है।वही इस पूरे घटनाक्रम के बाद बीजेपी सकते में आ गई है। पार्टी के अंदर जमकर घमासान मचा हुआ है।हालांकि अभी तक किसी भी भाजपा नेता की प्रतिक्रिया सामने नही आई है। 

आयोग ने लिया संज्ञान

साध्वी प्रज्ञा के इस बयान का चुनाव आयोग ने भी तुरंत संज्ञान लेते हुए उन्हें चुनाव आचार संहिता उल्लंघन का नोटिस थमा दिया। इतना ही नहीं, मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी वीएल कांता राव ने चेतावनी देते हुए सभी राजनीतिक दलों को एडवाइजरी भी जारी की है, जिसमें उन्होंने कहा बार-बार चुनाव के मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन व अपमानजनक भाषा का प्रयोग करने की वजह से कड़ी कार्रवाई हो सकती है। वही नोटिस जारी होने पर प्रज्ञा ने कहा है कि वह नोटिस का जवाब जरुर देंगी।मै धर्म की बात कर रही हूं। अपने राम की बात कर रही हूं। मैने जो कहा अपनी बात पर अड़िग हूं।