कांग्रेस में घमासान, पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा ने चिदंबरम और सिब्बल को लिया आड़े हाथ

कांग्रेस नेता सज्जन वर्मा ने हमला बोलते हुए कहा कि दोनों नेताओं को बुढ़ापे में पद छोड़कर युवाओं को मौका देना चाहिए.।

सज्जन सिंह वर्मा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Election) और मध्य प्रदेश में हाल में हुए उपचुनावों (Byelection) में मिली हार के बाद अब एक बार फिर कांग्रेस (Congress) में अंदरूनी खींचतान खुलकर सामने आ गई है| कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल उठाने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं कपिल सिब्बल (Kapil Sibbal) और पी. चिदंबरम (P. chidambaram) को अब अब मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री सज्जनसिंह वर्मा (Sajjan Verma) ने निशाने पर लिया है|

कांग्रेस नेता सज्जन वर्मा ने हमला बोलते हुए कहा कि दोनों नेताओं को बुढ़ापे में पद छोड़कर युवाओं को मौका देना चाहिए.। वर्मा ने यह भी कह दिया कि नेहरू-गांधी परिवार पर सवाल उठाने से पहले दोनों नेता ये बता दें कि छह साल में उन्होंने कांग्रेस के लिए क्या किया। मीडिया से बातचीत करते हुए पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने बुधवार को कहा कि सिब्बल और चिदंबरम आज नेहरू-गांधी परिवार पर सवाल खड़ा कर रहे हैं। वे ये तब क्यों भूल गए थे जब पार्टी के पदों से लेकर सरकार तक में उन्हें झोली भर-भरकर पद दिए गए थे।

चिदंबरम और सिब्बल दोनों को यह बताना चाहिए कि केंद्र में जबसे भाजपा की सरकार है, इन छह वर्षों में उन्होंने कांग्रेस के लिए क्या किया। किसी पार्टी के एक कार्यकर्ता को भी मिलने का समय दिया क्या? ऐसे में इन्हें पार्टी से सवाल पूछने का हक नहीं है। वर्मा ने कहा इन जैसे नेताओं की वजह से ही कांगेस डूब रही है, पार्टी ने झोली भर भर के पद दिए हैं|