भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan Singh Verma) को नोटिस जारी कर उनसे 2 दिन में जवाब मांगा है। ये जवाब उनके उस बयान पर मांगा गया है जिसमें सज्जन वर्मा ने कहा था कि डॉक्टरों के अनुसार लड़कियां जो 15 साल में प्रजनन (Reproduction) लायक हो जाती हैं।

बता दें कि हाल ही में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने लड़कियों की शादी (Age Limit of Girls) की उम्र 18 साल से बढ़ाकर 21 साल करने की बात कही थी। इसी को लेकर पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने विवादित बयान देते हुए कहा है कि डॉक्टरों के अनुसार लड़कियां जो 15 साल में प्रजनन (Reproduction) लायक हो जाती हैं तो उनकी शादी की उम्र 18 से 21 करने की क्या जरूरत है। जब पहले से ही उनकी उम्र 18 साल तय है, तो 18 ही रहने दिया जाना चाहिए।

ये भी पढ़िये- बेटियों की शादी की उम्र को लेकर कांग्रेस नेता के बिगड़े बोल, कहा-15 साल में प्रजनन लायक हो जाती हैं लड़कियां

अब उनके इस बयान पर  राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (National Commission for Protection of Child Rights) ने जवाब मांगा है। आयोग ने कड़े शब्दों में कहा है कि ये बयान बाल संरक्षण और अधिकारों के विरूद्ध है। सोशल मीडिया या पब्लिक प्लेटफार्म पर दिए गए ऐसे असंगत तथा गैरजिम्मेदाराना बयान लड़कियों के प्रति भेदभावपूर्ण है। आयोग ने सेक्शन 13 (1) (c) and (k ) CPCR (Commissions for Protection of Child Rights Act) के तहत दो दिन में सज्जन वर्मा से जवाब तलब किया है।

अपने बयान से मुश्किल में आए सज्जन वर्मा, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने 2 दिन में मांगा जवाब