गलवान ट्वीट मामले में बढ़ी Richa Chadha की मुसीबत, संस्कृति बचाओ मंच ने उठाई गिरफ्तारी की मांग

Bhopal News : फिल्म अभिनेत्री Richa Chadha ने भारतीय सेना के एक अधिकारी पर टिप्पणी की थी, देश में उनके खिलाफ तमाम प्रकार की बातें होने लगी। जिसके कारण वो मीडिया की सुर्खियों में छाई रही और अब यह मुद्दा राजनीतिक रुप ले चुका है। दरअसल, मध्य प्रदेश के उनके खिलाफ शिकायतें हुई है। जिसके बाद उनकी मुश्किलें बढ़ गई है। पहले प्रदेश के गृहमंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने अभिनेत्री को सोशल मीडिया के माध्यम से जमकर फटकार लगाई है। तो अब वहीं संस्कृति बचाओ मंच के अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी ने भी ऋचा चड्ढा के टिप्पणी की निंदा की है।

संस्कृति बचाओ मंच के अध्यक्ष ने की कड़ी निंदा

संस्कृति बचाओ मंच के अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी ने बयान जारी करते हुए कहा कि, ऋचा चड्ढा के बयान की हम निंदा करते हैं। जिनके बारे में अभिनेत्री ने टिप्पणी की है वो साल के 365 दिन देश की सीमा पर तैनात रहकर हिंदुस्तान के सभी लोगों की रक्षा करते हैं। उन्हीं के कारण हम चैन की नींद सो पाते हैं। जो हमारी सुरक्षा के लिए अपनी जान जोखिम में डाल देते हैं। माइनस डिग्री में रहकर हमारी सुरक्षा की जिम्मेदारी निभाने वाले सेना के जवानों पर इस प्रकार की टिप्पणी करना अशोभनीय है।

गिरफ्तारी की मांग

अध्यक्ष ने आगे कहा कि, श्रद्धा मर्डर केस में उस लड़की के 35 टुकड़े किए गए तब आपका कोई बयान सामने नहीं आया। इससे आपकी मानसिकता समझ में आती है। साथ ही उन्होंने कहा कि, इसके लिए थाने में शिकायत भी की जा रही है। संस्कृति बचाओ मंच गृहमंत्री से मामले की कार्रवाई कर उनकी गिरफ्तारी की मांग करता है।

ऋचा के तीन शब्द

दरअसल, अभिनेत्री ने ट्वीटर पर सेना से संबंधित एक बयान को रीट्वीट करते हुए लिखा कि, “गलवान सेज हाय (गलवान याद करें)।” इसके बाद उन पर आरोप लगा कि वह गलवान घाटी वाली घटना की याद दिलाकर सेना की क्षमता पर सवाल उठा रही हैं। जिसके बाद वो सोशल मीडिया पर काफी ट्राल हुई। इतना ही नहीं उनके खिलाफ लोगों ने FIR की मांग उठाई है।

गलवान ट्वीट मामले में बढ़ी Richa Chadha की मुसीबत, संस्कृति बचाओ मंच ने उठाई गिरफ्तारी की मांग

ऋचा चड्ढा ने मांगी माफी

वहीं, मामले को गर्म होता देख ऋचा चड्ढा ने अपने इस बयान के लिए माफी मांगी है। उन्होंने ट्वीट पर माफी मांगते हुए लिखा कि, “मेरा ये इरादा कभी नहीं हो सकता, फिर भी विवादों में घसीटे गए मेरे 3 शब्दों ने अगर किसी को दुख पहुंचाया हो, तो मैं माफी मांगती हूं और ये भी कहूंगी कि मेरे शब्दों ने अगर गैर इरादतन भी फौज के मेरे भाईयों के अंदर ये भावना पैदा की हो तो मुझे बहुत दुख होगा।”