स्कूल बंद हैं तो क्या, जानिए कैसे रेडियो के ज़रिए पढ़ेंगे बच्चे

भोपाल. कोरोना महामारी के चलते बच्चों के स्कूल कई दिनों से बंद है. संक्रमण के खतरे के कारण बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं. ऐसे में बच्चों की घर बैठे पढ़ाई के लिए मध्य प्रदेश में रेडियो स्कूल कार्यक्रम की शुरूआत की गई है.

कार्यक्रम की शुरूआत के मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रेडियो के ज़रिए स्कूली बच्चों को संबोधित किया. मुख्यमंत्री ने बच्चों को महाभारत की कहानी सुनाते हुए कहा कि जिस प्रकार लक्ष्य के प्रति समर्पित अर्जुन का ध्यान केवल चिड़िया की आंख पर था, उसी प्रकार उज्जवल भविष्य के लिए विद्यार्थी की निगाहें भी लक्ष्य पर ही केन्द्रित होनी चाहिए.

रेडियो स्कूल कार्यक्रम में रोजाना से 11 से 12 बजे(दोपहर)  रेडियो के जरिए पहली से आंठवी कक्षा के बच्चों को रोचक ढंग से पढ़ाया जाएगा. इसके लिए एक व्हॉट्सऐप ग्रुप भी बनाया गया है. रेडियो के जरिए शिक्षक पाठ पढ़ा सकेंगे और लेक्चर भी दे सकेंगे. साथ ही बच्चों को प्रेरक व शिक्षाप्रद कहानियां भी सुनाई जाएंगी.

व्हॉट्सऐप ग्रुप पर भी बच्चों को एज्युकेशनल वीडियो भेजे जाएंगे और हिन्दी व अंग्रेजी भाषा लिखने का अभ्यास भी करवाया जाएगा. तीसरी से पांचवीं कक्षा तक के बच्चों को 15 तक का पहाड़े और छठी से आठवीं तक के विद्यार्थियों को 20 तक के पहाड़े याद कराए जाएंगे. अगर कोई समस्या है तो बच्चों के लिए एक मोबाइल नंबर भी जारी किया गया है. फोन नंबर 799967538 पर वॉट्सएप के माध्यम से शिकायत भी की जा सकती है. वहीं समस्या का समाधान भी पूछा जा सकता है.

अभिवावकों से भी अपील की जा रही है कि वे बच्चों से रीविजन अवश्य कराएं.