टिकट में देरी के सवाल पर सिंधिया का जवाब, ‘आप को क्यों हो रही है चिंता’

scindia-statement-on-guna-ticket-delay

भोपाल। मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने अबतक 22 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा करदी है। लेकिन अब तक इंदौर, गुना और ग्वालियर सीट पर फैसला नहीं किया गया है। इस बीचे राजधानी में कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुना लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ने को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि इसका फैसला तो केंद्रीय नेतृत्व करेगा, आपको इतनी चिंता क्यों हो रही है। 

दरअसल, मीडिया ने सिंधिया से उनके नाम की घोषणा में हो रही देरी को लेकर सवाल पूछा था। लेकिन सिंधिया सवालों का जवाब देने से बचते नजर आए। उन्होंने कहा कि मुझे अभी कोई जानकारी नहीं है। पार्टी का जो फैसला होगा हम उसपर अमल करेंगे। इंदौर भी महत्वपूर्ण सीट है। इसलिए मंथन किया जा रहा है। इंतिम निर्णय केंद्रीय समिति ही लेगी। 

मध्यप्रदेश की इंदौर, विदिशा, गुना-शिवपुरी और ग्वालियर सीटें ऐसी हैं, जहां अब तक दोनों ही दल कांग्रेस और भाजपा अब तक अपने प्रत्याशियों पर मुहर नहीं लगा पाए हैं। बताया जा रहा है कि इन सभी सीटों पर दोनों दल ‘वेट एंड वॉच’ की स्थिति में हैं। इंदौर में जहां भाजपा लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के नाम पर संशय की स्थिति में है, वहीं कांग्रेस भी भाजपा के गढ़ इंदौर में अब तक किसी प्रत्याशी के नाम पर सहमति नहीं बना पाई है। मीडिया की खबरों के मुताबिक यहां से भाजपा इस बार श्रीमती महाजन का टिकट काट कर महापौर मालिनी गौड़ को अपना चेहरा बना सकती है। ऐसे में कांग्रेस भी भाजपा के इस अभेद किले को भेदने के लिए सर्वमान्य चेहरे की तलाश में है। प्रदेश सरकार के मंत्री जीतू पटवारी यहां से चुनाव लडऩे की इच्छा जता चुके हैं, वहीं कांग्रेस की स्थानीय नेता अर्चना जायसवाल भी अपनी दावेदारी ठोक चुकी हैं।

गुना-शिवपुरी संसदीय क्षेत्र

कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया की सीट गुना-शिवपुरी भी उन सीटों में शामिल है, जहां दोनों दलों की दो-दो सूची आने के बाद भी इस सीट पर किसी दल ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं। इस सीट पर सिंधिया के अलावा उनकी पत्नी प्रियदर्शिनी राजे भी लगातार सक्रिय हैं। वहीं भाजपा भी सिंधिया के इस गढ़ के लिए अब तक कोई मुफीद चेहरा नहीं चुन पाई है। हालांकि इस सीट पर भाजपा उपाध्यक्ष प्रभात झा का नाम सर्वाधिक चर्चाओं में है।