see-here-Weather-conditions-of-Madhya-Pradesh

भोपाल।

तेज हवाओं और आंधी का दौर थमते ही गर्मी ने अपने तेवर दिखाना शुरु कर दिए है। नीले आसमान में निकली तेज धूप लोगों को पसीने से बुरी तरह तरबदर कर रही है। दिन में पारा बढ़ते ही रात में भी हवाए गर्म चल रही है। वही मौसम विभाग की माने तो इसका कारण राजस्थान से आ रही गर्म हवाएं है,यहां ऊपर चक्रवात बन रहा है, जिसके कारण मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है। विभाग ने अगले दो दिन तक लू चलने की संभावना जताई है।

राज्य में लगातार गर्मी का असर बढ़ रहा है। बुधवार को भी धूप की चुभन बनी रही और गुरुवार सुबह से ही साफ और तीखी धूप निकली है। बुधवार को अधिकतम तापमान 41.5 डिग्री दर्ज किया गया है, जो सामान्य तापमान से 5 डिग्री ज्यादा रहा। न्यूनतम तापमान 27.7 डिग्री रहा, वह भी सामान्य से पांच डिग्री ज्यादा रहा।  विभाग की माने तो अगले दो दिन तक लू चलने के आसार है। विभाग ने लोगों को खास सावधानी बरतने की जरूरत है।वही कई इलाकों में हवा तेज के साथ साथ हल्की बौछारे पड़ने के भी आसार है। इनमें ग्वालियर-चंबल संभाग के कुछ क्षेत्रों शामिल है, जहां अगले 24 घंटे के दौरान तेज हवा चलने के साथ बूंदाबांदी हो सकती है।

मौसम विभाग की माने तो इसकी वजह छत्तीसगढ़ से लेकर पूर्वी मध्यप्रदेश तक ट्रफ लाइन बनना है। इसका एक्सटेंशन होगा तो वह नमी भी खींच सकती है। वही राजस्थान के ऊपर चक्रवात बनने के कारण मौसम में बदलाव हो रहा है। 

गर्मी में बीमार होने से बचे

लगातार बदलते मौसम के कारण बीमार होने का भी डर बना रहता है, जैसे सर्दी, खांसी और जुकाम। कभी कभी पीलिया या फूड पॉइजिनिंग जैसे बीमारी होने का भी डर बना रहता है।वही इन दिनों स्वाइन फ्लू लोगों में ज्यादा फैल रहा है,इसलिए हल्का सा भी अहसास होने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह ले। बढते तापमान के चलते सावधानी रखने की जरुरत है। वही जब भी बाहर निकले प्याज, पानी की बोतल और ग्लूकोज साथ लेकर चले। वही खान-पान पर भी ध्यान रखे। जितना ज्यादा हो सके लिक्विड डाइट ले ताकी एलर्जी लेवल कम ना हो और आप हेल्दी रहे।

लू से बचने के उपाय

गर्मियों के बढ़ने के साथ ही लोगों को लू का डर सताने लगता है।गर्मी में लू से बचने के लिए जरूरी है कि खूब पानी पीएं।दिन में कम से कम दो बार ठंडे पानी से स्नान करें। धूप में बाहर निकलना भी पड़े तो जेब में एक प्याज रख लें।इसके लिए अधिक धूप में घर से बाहर न निकलें। यदि निकलना जरूरी है तो पूरी तरह अपने को ढक कर रखें या फिर टोपी, चश्मा, छतरी इत्यादि का प्रयोग करें।गर्मी में बहुत ज्यादा रेशमी, डार्क या चटीले वस्त्र न पहनते हुए सूती व हल्के रंग के कपड़े पहनें। इतना ही नहीं बहुत अधिक टाइट कपड़े न पहनें।चाय-काफी की बजाय समय-समय पर नींबू पानी, सोडा, शिकंजी, लस्सी, शर्बत इत्यादि को अधिक प्राथमिकता दें।