अब खेल विभाग में घोटाला! वित्त विभाग ने माना गंभीर वित्तीय अनियमितता

serious-financial-irregularities-in-sports-department-of-madhya-pradesh

भोपाल|  मध्य प्रदेश में पिछली सरकार के कार्यकाल में हुए घोटालों की परत अब खुलती जा रही है| अब खेल विभाग में वित्तीय अनिमितता उजागर हुई है| भोपाल स्तिथि तात्या टोपे खेल परिसर में  एथलेटिक सिंथेटिक ट्रेक के निर्माण में भारी अनियमितता बरती गई है| भारत सरकार की शर्तों के खिलाफ जाकर ट्रैक का निर्माण कराया गया, जिसे वित्त विभाग ने इसे गम्भीर वित्तीय अनियमितता माना है| वित्त विभाग ने खेल विभाग के तत्कालीन संचालक उपेंद्र जैन से स्पस्टीकरण मांगा है| 

इस संबंध में कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी और वरिष्ठ आरटीआई एक्टिविस्ट अजय दुबे ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से मामले की जांच की मांग की है और भ्रष्टाचार की जांच कर दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है| चतुर्वेदी ने सीएम को पत्र लिखा है, जिसमे उन्होंने बताया कि खेल विभाग में एक एथलेटिक ट्रेक का निर्माण होना था एवं इस ट्रैक निर्माण के लिए भारत सरकार से इस शर्त पर राशि मिली थी कि ट्रेक का निर्माण उनकी अधिकृत एजेन्सी से करवाया जाएगा।  लेकिन खेल विभाग ने बग़ैर राज्य शासन की अनुमति के अपना टेंडर कर निर्माण करवा लिया।  इस पर भारत सरकार ने शर्त अनुसार काम न करने के कारण राशि देने से मना कर दिया। भुगतान के लिए जब राज्य शासन से प्रयास किए तो वित्त विभाग ने इसे गम्भीर वित्तीय अनियमितता माना है। 

चतुर्वेदी ने इस प्रकरण में जिम्मेदारी निर्धारित करने के साथ  ही भ्रष्टाचार की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई करने की मांग की है| वहीं आरटीआई एक्टिविस्ट अजय दुबे ने सोशल मीडिया के माध्यम से इस मामले पर कार्रवाई की मांग की है|