पॉश कॉलोनी में पकड़ाया सेक्स रैकेट, WhatsApp पर मिलती थी कॉल गर्ल, परोसी जाती थी शराब

sex-racket-

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी में देह व्यापार की आड़ में अड़ीबाजी के खेल का पर्दाफ़ाश होने के बाद अब एक और देह व्यापार का भंडाफोड़ हुआ है| क्राइम ब्रांच ने भोपाल के पॉश इलाके में छापा मार कार्रवाई करते हुए सेक्स रैकेट का खुलासा किया है| मौके से टीम ने चार महिलाओं और छह युवकों को गिरफ्तार किया है।क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि ई-5/77 अरेरा कॉलोनी का मालिक अपने मकान में देह व्यापार का अड्डा संचालित कर रहा है। उसके द्वारा ग्राहकों को शराब भी उपलब्ध कराई जाती है।  

जानकारी के मुताबिक क्राइम ब्रांच ने सोमवार को दो महिला, एक पुलिस कर्मी और एक युवक समेत चार लोगों को बुजुर्ग रिटायर्ड अफसर को ब्लेकमैलिंग में गिरफ्तार किया था। उनके द्वारा सुराग मिला कि अरेरा कॉलोनी में एक मकान में पौर्न बेवसाइड और वाट्सएप, फेसबुक, इस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया के माध्यम के जारिए कॉल गर्ल ��पलब्ध कराने का काला कारोबार चलाया जा रहा था। अरेरा कॉलोनी के ई-5 में स्थित उस मकान में कॉल गर्ल के साथ शराब भी उपलब्ध कराई जाती है, इस सूचना पर क्राइम ब्रांच ने मंगलवार को छापा मारकर 4 महिलाएं और छह युवकों को गिरफ्तार कर लिया। 

सूचना की तस्दीक कर क्राइम ब्रांच की टीम ने महिला थाना प्रभारी के साथ मिलकर ई-5/77 अरेरा कॉलोनी पर दबिश की योजना बनाई| इस दौरान पुलिस ने पहले एक व्यक्ति को ग्राहक बनाकर भेजा| उसके द्वारा इशारा करने पर टीम ने मकान पर छापा मारा था। टीम को कमरों में आपत्तिजनक हालत में पुरुष एवं महिलाएं मिलीं थी। क्राइम ब्रांच ने मकान के पीछे से 60 लीटर अवैध अंग्रेजी शराब भी जब्त की है। 

चार साल से चल रहा था अड्डा 

टीम ने जिन लोगों को मौके से गिरफ्तार किया है उनमें आशुतोष बाजपेयी, मिथलेश पुनेरा, कृष्णा जीसी, सुनील दुबे, तलापार नरसिंहपुर निवासी नवीन जाट और जहांगीराबाद निवासी प्रेम ओली शामिल हैं। देह व्यापार के आरोप में पकड़ाईं दो युवतियां जबलपुर, एक लखनऊ और एक भोपाल की हैं। इन युवतियों को कांट्रेक्ट पर एक-दो महीने के लिए बुलाया जाता है। आरोपी करीब चार साल से देह व्यापार का अड्डा चला रहा था। देह व्यापार चलाने वाले आशुतोष वाजपेई पर हबीबगंज और एमपीनगर में छह आपराधिक मामले दर्ज हैं। वह पूर्व में देह व्यापार में गिरफ्तार हो चुका है। सभी के खिलाफ अनैतिक देह व्यापार अधिनियम के अंतर्गत एवं आबकारी एक्ट की धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है।

वेबसाइट के जरिये ग्राहक बनकर पहुंची टीम 

क्राइम ब्रांच ने एमपीनगर एस्कॉर्ट सर्विस डाटकॉम- नाम की बेवसाइड के जारिए अपने एक पुलिस कर्मी को ग्राहक बनाकर भेजा था। उसके ग्रीन स���ग्नल के मिलते ही पुलिस घर में घुस गई और युवक और महिलाओं आपत्तिजनक स्थिति में पक़ड़ा। पूछताछ की गई तो सभी के द्वारा यह बताया कि इस मकान का मालिक आशुतोश बाजपेई है। वह पूरी इंतजाम कर देता है|  शराब की जरूरत वालो को शराब भी अपने घर से ही दे देता, जिसके मनमाने रकम वसूलता है । उसके पास से करीब 60 लीटर अवैध अंग्रेजी शराब भी जप्त की गई है ।