मध्यप्रदेश के महाधिवक्ता शशांक शेखर का इस्तीफा

भोपाल।एमपी में कमलनाथ सरकार के गिरते ही मध्यप्रदेश के महाधिवक्ता शशांक शेखर ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।उन्होंने विधि एवं विधायी कार्यविभाग के प्रमुख सचिव को अपना इस्तीफा सौंपा।  उन्होंने कहा कि मौजूदा परिस्थिति को देखते हुए जब सत्ताधारी पार्टी और उसके मुख्यमंत्री ने त्यागपत्र दे दिया है, तो यह मेरा नैतिक दायित्व है कि अपने पद से त्यागपत्र दे दूं।

शशांक शेखर कमलनाथ के काफी नज़दीकी माने जाते हैं, इन्होने बीते दिनों सियासी हलचल के बीच सिंधिया समर्थक माने जाने वाले ग्वालियर में पदस्थ अतिरिक्त महाधिवक्ता अंकुर मोदी को हटाकर उनकी जगह राजीव शर्मा को ग्वालियर दफ्तर में अतिरिक्त महाधिवक्ता नियुक्त किया। पिछले दिनों जारी सियासी घमासान के दौरान कमलनाथ इनसे राय मशवरा लेते रहे थे, कई बार ये सीएम हाउस पर जाकर कमलनाथ से चर्चा भी कर चुके थे।

कौन है शशांक शेखर

6 फरवरी 1973 को जबलपुर में जन्मे शशांक शेखर ने रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय से कानून की पढ़ाई पूरी करने के बाद मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में 1998 में अपना नामांकन कराया। वर्ष 2001 में उन्हें पैनल लॉयर नियुक्त किया गया। 2002 में उन्होंने स्वतंत्र रूप से वकालत शुरू की और 2008 में मध्यप्रदेश की स्टैंडिंग काउंसिल के केंद्रीय प्रशासनिक प्राधिकरण जबलपुर में शामिल हुए।