शिवराज फिर बोले ‘टाइगर अभी जिंदा है’, इस योजना को लेकर दी सरकार को चेतावनी

shivraj-again-warn-government-in-bhopal

भोपाल। बीजेपी की सरकार जाने का बाद से पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कमलनाथ सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं। वह सरकार के हर कदम, योजना और ऐलान पर अपनी प्रतिक्रिया से सबको चौंका रहे हैं। अब पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सरकार को संबल योजने को लेकर चेतावनी दी है। उन्होंने कहा है कि हम संबल योजना को बंद नहीं होने देंगे। अगर सरकार संबल योजना को बंद करने के लिए कदम उठाती है तो हम लड़ाई लड़ेंगे और इस लड़ाई में सबसे आगे वह खुद रहेंगे। राजधानी के भीम नगर में आयोजित जनकल्याणकारी योजनाओं के हितग्राहियों के कार्यक्रम में उन्होंने ये बात कही।

पूर्व सीएम चौहान ने कहा कि जनता की सेवा करने के लिए मुझे किसी पद की ज़रूरत नहीं है। हम दोगुना ताकत से जनता के मुद्दे उठाएंगे। ये जनता ही हमारी असली ताकत है। इनकी ज़िंदगी में कोई कष्ट न हों, यही हमारा लक्ष्य है। समझ में नहीं आता यह सरकार कौन चला रहा है। जनता के हित के लिए कोई काम नहीं कर रहा है। किसानों की फसलें नष्ट हो रही हैं और शासन-प्रशासन हाथ पर हाथ रखे बैठा है। जनकल्याणकारी योजनाओं को यदि सरकार ने बंद किया, तो ठीक नहीं होगा। मैं इसे बंद नहीं होने दूंगा। 

मैं सीएम था तो एक मिनट में खेत में उतर जाता था

पाला से फसल खराब हो गई, मुख्यमंत्री क्या पटवारी तक खेतों में नहीं गया। मैं जब मुख्यमंत्री था, तो एक मिनट नहीं लगता था, खेतों में उतर जाता था। हमने प्रदेश के गरीब और वंचित वर्ग के नागरिकों के कल्याण हेतु संबल योजना प्रारम्भ की। किसी भी कीमत पर हम इसे बंद नहीं होने देंगे। मैंने सभी गरीब जरूरतमंद को वर्ष 2022 तक पक्का मकान देने का फैसला किया था। सभी को पक्का मकान नहीं मिला तो सरकार को घेरेंगे। यह धरती सबकी है। इसलिए हमने तय किया जिनके पास चार मकान हैं, उनसे टैक्स लेंगे और गरीबों को पक्का मकान देंगे। अब मैं मुख्यमंत्री नहीं रहा, लेकिन गरीबों का मकान बनवाने का दम तो अब भी है। लड़ लड़के करूंगा।

सरकार ने फीस नहीं भरी तो लड़ना पड़ेगा

यह सरकार सुन ले कि केजी से लेकर पीजी तक की पढ़ाई की फीस सरकार देगी। इसकी मैंने योजना बनाई थी। यदि अब सरकार ने फीस नहीं भरवाई, तो लड़ना पड़ेगा। मैंने सभी गरीब परिवार के मेधावी बच्चों की उच्च शिक्षा तक की फीस भरवाने का इंतजाम किया था। बजट में पैसे रखे थे। अब यदि फीस नहीं भरेंगे तो संघर्ष किया जाएगा। सरकार ने कहा था कि बिजली बिल आधा करेंगे और मैंने गरीबों के लिए 200 रुपये प्रति माह की योजना बनाई थी। अब कांग्रेस को वादा निभाना पड़ेगा और 100 रुपये प्रति माह पर गरीबों को बिजली देना होगा। हमने बहुत मानवीय योजना बनाई थी, जिसमें गरीब बहन को प्रसव से पूर्व और बाद में मिलाकर कुल 16 हजार रुपये दिये जाते थे, लेकिन यह सरकार अब इसे रोक रही है। हीला-हवाली कर रही है, लेकिन देना तो पड़ेगा। गरीबों के अधिकार की लड़ाई हम मिलकर लड़ेंगे। चिंता मत करना गरीबों का हक नहीं छीनने देंगे। जरूरत पड़ी तो अपनी जिंदगी दांव पर लगा देंगे।तुम्हारे हक को कोई नहीं छीन सकेगा। तुम्हारा अधिकार तुम्हें मिलेगा। मेरे गरीब भाइयों, बहनों, घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि टाइगर अभी जिंदा है।