दीनदयाल रसोई बंद होने पर शिवराज ने सरकार को घेरा

shivraj-attack-on-kamalnath-governmetn-for-closed-deendayal-rasoi-

भोपाल। राज्य सरकार द्वारा शिवराज सरकार के समय शुरू की गई दीनदयाल रसोई योजना को बंद करने पर पूर्व मुख्यमंत्री ने दुख जताया है। उन्होंने कहा कि दीनदयाल और तीर्थ यात्रा योजनाओं के बंद हो जाने की खबर से मन दु:खी हो जाता है। कांग्रेस को गरीबों की चिंता नहीं है। हाल ही में कमलनाथ सरकार ने तीर्थयात्रा का बजट 200 करोड़ से घटाकर 6 करोड़ कर दिया, वहीं 20 जून से दीनदयाल योजना भी बंद पड़ी हुई है। खाद्य विभाग द्वारा राशन की सप्लाय रोक देने के कारण उसे बंद करना पड़ा। 

भ्रष्टाचार रोकने के लिए बंद की योजना 

सरकार ने कहा कि जिन योजनाओं में सर्वाधिक भ्रष्टाचार हो रहा था और गरीबों को लाभ नहीं मिल रहा था सिर्फ उन्ही योजनाओं को थोड़े दिनों के लिए बंद किया जा रहा है। इसमें संशोधन कर दोबारा शुरू किया जाएगा, ताकि भ्रष्टाचार रोका जा सके। वहीं पूर्व सीएम शिवराज ने ट्वीट कर लिखा “आजकल सुबह-सुबह जब भी अखबार पढ़ता हूँ, एक न एक ऐसी खबर मिलती है जिससे मन दुःखी हो जाता है। मैंने प्रदेश के गरीबों का पेट भरने के लिए दीनदयाल रसोई प्रारम्भ की थी, उससे लाखों लोग लाभान्वित भी हो रहे थे! लेकिन कांग्रेस सरकार से गरीबों का सुख कहाँ देख जाता है”


इंदिरा रसाई के नाम से शुरू होगी योजना!

सरकारी सूत्रों ने बताया कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार दीनदयाल रसोई योजना का नाम बदलकर इंदिरा रसोई करने जा रही है। जल्द ही इंदिरा रसोई शुरू होगी। इसके लिए योजना में जरूरी प्रावधान किए जाएंगे। हालांकि अभी शासन स्तर पर यह फैसला नहीं हुआ है। बताया गया कि ज्यादातर जिलों में योजना बंद है। क्योंकि इसके लिए अलग से फंड की व्यवस्था नहीं है। रसोई संचालित करने वाले लोग भाजपा से जुड़े हैं। सरकार बदलने के बाद भाजपाईयों की रसोई संचालन में रुचि नहीं है।