Shivraj Cabinet :CM शिवराज ने मंत्रियों को दिए ये निर्देश, सिंधिया समर्थक इमरती देवी की तारीफ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

मंत्री बनना सौभाग्य की बात होती है, 8 करोड़ की जनसंख्या में हम 33-34 मंत्री है, आपका एक-एक क्षण महत्वपूर्ण है ।हर एक क्षण का उपयोग मध्य प्रदेश के विकास और जनता के कल्याण के लिए करें । हमें वित्तीय प्रबंधन की व्यवस्था करनी होगी, पैसा नहीं है तो पैसा लाएंगे, तरीके निकाले जाएंगे। बजट के बाहर भी पैसे की व्यवस्था कैसे हो, इसके लिए प्रयास किए जाएंगे। यह बात आज कैबिनेट की वर्चुअल बैठक से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने सभी मंत्रियों से कही।

शिवराज ने कहा कि कोरोना (Corona) ने काम करने के तरीके बदल दिए हैं ।सरकार भी वर्चुअल कैबिनेट (Virtual cabinet meeting) कर रही है, हमारे कुछ साथी संक्रमित हैं इसलिए सब के स्वास्थ्य का ध्यान रखना भी हमारी जिम्मेदारी है ,आज मुझे विशेष रूप से एक बात कहनी है ।आत्मनिर्भर (Aatmanirbhar) मध्य प्रदेश का 3 साल का रोडमैप (Road Map) फाइनल कर रहे हैं, इस रोड मैप में 1 महीने 3 महीने 6 महीने 1 साल 2 साल 3 साल में क्या-क्या करना है इसकी पूरी रूपरेखा रहेगी। 3 साल बाद जब हम जनता के बीच जाएं तो उन्हें बताएं कि हमने यह काम किए हैं इसके लिए हमें पूरी कर मदरसे मनोयोग से जुड़ना होगा।

शिवराज ने कहा कि आप सभी मंत्री गण किसी ना किसी ग्रुप में है आप सभी जिस भी ग्रुप में है, उसकी मीटिंग तय कर आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के रोड मैप के लिए काम करना शुरू कर दें।25 अगस्त को चारों ग्रुप की रिपोर्ट आप सभी मुझे सौपेंगे। आप सभी जानते हैं कि वित्तीय नुकसान हुआ है, रिवेन्यू कलेक्शन भी कम हुआ है लेकिन हम पैसे का रोना नहीं रोएंगे । वित्तीय प्रबंधन के लिए मैंने टीम बनाई है, नीति आयोग से हम चर्चा करने के बाद आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश का एक ड्राफ्ट प्रधानमंत्री जी को भी देंगे ।

शिवराज ने आगे कहा कि हम आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश का रोड मैप तैयार कर रहे हैं,यह कोई कर्मकांड नहीं है, मध्य प्रदेश की प्रगति और विकास को हर क्षेत्र में ऊपर ले जाने का प्रयास है। आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश (madhypradesh) एक संकल्प है, आत्म निर्भर मध्य प्रदेश हमारे लिए जिद जुनून और जज्बा है , हमें आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश बनाने के लिए परिश्रम की पराकाष्ठा करना है।देशभर के विशेषज्ञों ने नीति आयोग के सदस्यों ने हमें भरपूर सहयोग दिया है।आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश के रोडमैप के लिए बनाए गए चारों ग्रुप के लिए सुझाव मिले है, जनता से भी सुझाव मिल रहे हैं।

सिंधिया समर्थक इमरती की तारीफ
वही सिंधिया की कट्टर समर्थक मानी जानी वाली इमरती देवी (Cabinet Minister Imarti devi) की तारीफ करते हुए सीएम ने कहा कि मैंने विभागों की समीक्षा की तो महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने जो विभाग की कठिनाइयां बताएं उसे समझ में आया कि वह बहुत गहराई तक काम कर रही हैं।इमरती देवी के साथ-साथ सभी मंत्रियों ने भी विभाग के लिए जो कार्य बताएं, प्रयास किये, वह प्रशंसनीय है।

मीडिया से भी बातें साझा करें मंत्री, भीड़ इकठ्ठा ना करे-शिवराज

सीएम ने कहा कि विभाग की समीक्षा हर सोमवार को आप लोग करें और यह बातें मीडिया को भी बताएं।जनसंपर्क अधिकारी के माध्यम से, मीडिया के माध्यम से आपके द्वारा किए जा रहे प्रयास जनता तक पहुंचे। हम प्रत्यक्ष रूप से जनता से नहीं जुड़ पा रहे हैं तो इन माध्यमों का भरपूर उपयोग करें ।विभागों के कार्यक्रम भी वर्चुअल होंगे, मैं भी वर्चुअल कार्यक्रम करूंगा ।लोकार्पण शिलान्यास की सूची आप लोग बनवाएं, मैंने भी यह सूची बनवाई है ।आप जब भी एमएलए एमपी से मिले तो भीड़ इकट्ठी न होने दे ।कोई भी एमएलए और एमपी वल्लभ भवन में भीड़ लेकर के ना आए आपको यह आग्रह करना है, सावधानी जरूरी है। आज मैंने भी मुख्य सचिव से 6 फीट की दूरी बनाई है

जिन कार्यों की समीक्षा होनी है उसमें प्रमुख रूप से जनकल्याणकारी योजनाएं-
श्रम सिद्धि अभियान
रोजगार सेतु
हमारा घर हमारा विद्यालय
कल से प्रारंभ होने वाला सहयोग से सुरक्षा अभियान
बिजली बिलों की समीक्षा
संबल योजना के विभिन्न घटक
गरीब कल्याण योजना
पंच परमेश्वर योजना।
आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के संबंध में क्रियान्वयन।
जल जीवन मिशन।
पात्र हितग्राहियों को राशन।
नए मंडी अधिनियम को लागू करना।
लेबर लॉ के संशोधन को प्रभावी रूप से क्रियान्वित करना।
माफियाओं के खिलाफ प्रभावी क्रियान्वयन कर उन्हें नेस्तनाबूद करना।
दूध सहित अन्य चीजों में मिलावट हो रही है तो इसके खिलाफ भी अभियान चलाया जाएगा।
वन नेशन वन राशन कार्ड योजना की समीक्षा सहित अन्य योजनाओं का लाभ सभी पात्र लोगो को मिले , इसका क्रियान्वयन करना और हमें इन सभी समीक्षाओं, क्रियान्वयन की बातें जनता तक पहुंचानी है।