Shivraj cabinet expansion: BJP पूर्व मंत्री का बड़ा बयान- लायक को मिला मंत्री पद, वैसे हम भी काबिल थे

mp-BJP-MPs-threaten-to-lose-in-loksabha-election-searching-new-faces

भोपाल।

मध्यप्रदेश में सत्ता पलट के आखिर 100 दिन के बाद शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार हो गया है। नए मंत्रिमंडल कैबिनेट में भाजपा की तरफ के 16 चेहरों को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है वही ऐसे भी चेहरे हैं। जो कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए थे। जहां एक तरफ राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया जा रहा था। वहीं दूसरी तरफ बीजेपी प्रदेश कार्यालय ने बिल्कुल सन्नाटा था। हालांकि भाजपा के विधायक हरिशंकर खटीक अपने कुछ कार्यकर्ताओं के साथ कार्यालय पहुंचे थे। जहां उनकी तरफ से निराशा साफ देखी जा रही थी। खटीक ने बातों-बातों में कहा कि कांग्रेस विधायक के आने से संगठन बढ़ा है। ऐसे में सब का मंत्री बनना संभव नहीं था।

दरअसल भाजपा की तरफ से 4 बार विधायक रहे हरिशंकर खटीक ने शिवराज कैबिनेट में अपने मंत्री बनने के सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि कांग्रेस विधायकों के बीजेपी में शामिल होने से संगठन बढ़ गया है। ऐसे में हमें पार्टी की तरफ से विचार करते हुए उनकी बात समझनी चाहिए कि उनकी वजह से प्रदेश में हमारी सरकार बन पाई है। ऐसी स्थिति में सभी को शिवराज कैबिनेट में मंत्री बनाना भी संभव नहीं है। फिलहाल पार्टी हाईकमान की तरफ से जिन्हें लायक समझा दिया है उन्हें मंत्री पद दिया गया है। हालांकि इसी के साथ विधायक हरिशंकर खटीक ने यह भी कहा कि वह भी मंत्री पद के लायक थे किंतु दुख जैसी कोई बात नहीं है। इसी के साथ भाजपा विधायक खटीक ने पार्टी में विश्वास जताते हुए कहा है कि पार्टी आगे उन्हें जो भी जिम्मेदारी देंगी।वह उसे निभाएंगे और पार्टी के साथ रहेंगे।

बता दे कि बीजेपी विधायक हरिशंकर खटीक मध्यप्रदेश के जतारा से चार बार विधायक रह चुके हैं। इसके साथ साथ वो आदिमजाति कल्याण राज्य मंत्री का पद भी संभाल चुके हैं। जिसके बाद 2018 के चुनाव में वह चौथी बार चुनाव जीते थे। इससे पहले 2003 में वह खरगापुर से विधायक बने थे। और 2008 में जैतारण विधानसभा सीट से विधायक निर्वाचित हुए थे। हालांकि 2013 में कांग्रेस के दिनेश अहिरवार ने उन्हें 236 वोट से हरा दिया था। जहां 2018 में वह चौथी बार विक्रम चौधरी को हराकर जीत दर्ज करने में सफल रहे थे। वैसे खटीक को लेकर यह चर्चा तेज थी कि शिवराज कैबिनेट में उनको स्थान मिलना तय है। जिसके बाद उन्हें हताशा हाथ लगी है। खैर खटीक ने अपने शब्दों से यह तो जाहिर कर दिया है कि वह पार्टी के साथ हैं। और पार्टी के निर्णय पर विश्वास रखते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here