बारिश और ओले से फसल नुकसान को लेकर शिवराज ने जताई चिंता, सरकार से की राहत की मांग

भोपाल। मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में गुरुवार देर शाम को जोरदार बारिश हुई। भोपाल समेत इंदौर, देवास, होशंगाबाद, खजुराहो, खरगोन, सागर, सतना, ग्वालियर, जबलपुर और नौगांव में गरज चमक के साथ कई घंटों तक झमाझम बारिश हुई। बारिश के चलते प्रदेश में ठंड का असर बढ़ गया है। वहीं बारिश के साथ ओलावृष्टि होने से किसानों को भारी नुकसान हुआ है। पहले से ही यूरिया के लिए जूझ रहे किसानों के लिए बारिश आफत बन कर टूटी है। कई जगहों पर खुले में रखा अनाज भीग जाने से किसानों के सामने परेशानी खड़ी हो गई है। ऐसी स्थिति में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों के लिए चिंता जाहिर करते हुए सरकार से उन्हें राहत देने की मांग की है। 

शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार देर रात ट्वीट कर किसानों के लिए चिंता जाहिर की है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि ‘मध्यप्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में वर्षा और ओले गिर रहे हैं। मैं चिंतित हूं कि यह कुसमय की वर्षा और ओले अन्नदाता के लिए नई कठिनाइयां न खड़ी कर दें। प्रशासन और सरकार से अपील करता हूं कि तत्काल प्रभाव से राहत देने के लिए कदम उठायें अन्यथा किसानों को भारी नुकसान हो सकता है’।

शिवराज ने सरकार से तत्काल राहत देने का आग्रह करते हुए अपने दूसरे ट्वीट में लिखा ‘मैं जानता हूं कि मध्यप्रदेश में हुई इस असमय वर्षा और ओलावृष्टि ने किसानों को चिंतित कर दिया है। खासकर मालवा और निमाड़ के वे किसान अधिक परेशान हैं, जिनके प्याज बाहर पड़े हैं। मैं सरकार से अनुरोध करता हूं कि समस्या के विकराल होने की प्रतीक्षा न करें, तत्काल किसानों को राहत दें’।

कृषि मंत्री ने दिया मदद का आश्वासन

प्रदेश के कृषि मंत्री सचिन यादव ने बेमौसम हुई बारिश और ओलावृष्टि से हुए नुकसान के लिए किसानों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि ‘आज प्रदेश के बहुत से जिलों से ओलावृष्टि की दु:खद खबरें प्राप्त हुई है, किसान भाइयों को चिंता करने की ज़रूरत नहीं है, कमलनाथ सरकार किसानों की सरकार है, हम किसानों के साथ हरसंकट में साथ खड़े है और हरसंभव मदद करने के लिए तैयार है’।