शिवराज के साथ किसने की शरारत, क्या है वायरल फोटो का सच

shivraj-fingh-fake-photo-viral-on-social-media-eating-non-veg

भोपाल। डिजिटल क्रांति के दौर में सबसे आसान है फर्जी फोटो वायरल कर किसी को भी निशाने पर लेना। और इस तरह की फर्जी मुहिम को और बल तब मिलता है जब इसमें चुनाव का तड़का लग जाता है। मध्यप्रदेश में भी 28 नवंबर को मतदान होना है। लिहाजा पूरे प्रदेश का सियासी पारा उफान पर है। फर्जी हो या असली विरोधी खेमे सोशल मीडिया के सहारे एक दूसरे पर गंभीर आरोप और छवि खराब करने की कोशिश में लगातार लगे हैं। इनका ताजा शिकार इस बार सूबे के मुखिया शिवराज सिंह चौहान हो रहे हैं। दो दिन से लगातार उनकी एक तस्वीर वायरल हो  रही है। वह हेलिकॉप्टर में खाना खाते दिखाई दे रहे हैं। इस फोटो में जो थाली सीएम पकड़े हैं उसे यह कह कर वायरल किया जा रहा है कि जो चीज उनकी थाली में दिख रही है वह मासाहार है। 

दरअसल, इस फोटो के साथ छेड़छाड़ कर इसको सोशल मीडिया पर वायरल किया गया है। जबकि सच यह है कि असली तस्वीर देश की प्रख्यात न्यूज एजेंसी प्रेस ट्रस्ट अॉफ इंडिया द्वारा जारी किया गया है। जिसमें सीएम शिवराज सिंह चौहान सब्जी खाते दिख रहे हैं। लेकिन ओछी राजनीति में आजकल एक दूसरे की थालियों में झांकने का चलन बढ़ गया है। राजनीति में गिरता स्तर इस तस्वरी के साथ साथ सोशल मीडिया पर हो रहे व्यक्तिगत हमले इस बात के गवाह हैं। जैसे ही चौहान की तस्वीर वायरल हुई उनकी कड़ी आलोचना की जाने लगी। इसमें कई दिग्गज भी शामिल रहे जिन्होंने बिना जांच किए ही चौहान पर उनके खान पान को लेकर सवाल खड़े कर दिए। 

पड़ताल में सामने आई ये सच्चाई

शिवराज सिंह चौहान को निशाना बनाने के लिए सोशल मीडिया यूजर्स ने जिस फोटो का इस्तेमाल किया है उसके साथ छेड़छाड़ की गई है। असली तस्वीर प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया की है और इसे शिवराज के हेलिकॉप्टर से किए दौरे के वक्त खींचा गया था।

रिजल्ट में सबसे पहले ही ‘Home-cooked food, nap in chopper, multiple rallies make up Shivraj chouhan’s schedule’ शीर्षक के साथ 17 नवंबर को पब्लिश की गई ‘द ट्रिब्यून’ की एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट में असली तस्वीर थी जिसके लिए पीटीआई को क्रेडिट दिया गया था। रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि शिवराज ने घर का साफ सुथरा खाना खाया यानी मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान की मीट खाने वाली तस्वीर फेक है। 

वरिष्ठ पत्रकार रिजवान अहमद सिद्दीकी ने सोशल मीडिया पर इस मामले को लेकर लिखा है कि, ‘आज ये तस्वीरे दिन भर चर्चा का विषय बनी रही होड़ सी मची रही Shivraj Singh Chouhan मुर्गा खा रहे हैं या नही कौन सी तस्वीर असली है कौन सी नकली … शिवराज अंडा खाये , मुर्गा खायें , बकरा खायें ये बहस का विषय है ये सोचकर भी सियासी दिवालियेपन पर अफ़सोस होता है … वैसे तो शिवराज माँसाहार छोड़ चुके है लेकिन अगर वो खायें भी तो किसी क्या लेना देना … यारों ये थाली में झाँकने की ओछी हरकत मत करो … वैसे चर्चा ये भी है कि ये किया किसने और सीखा किससे।’