BJP कार्यकर्ता की हत्या के बाद शिवराज की चेतावनी- ‘शांति के टापू पर हिंसा का खेल शुरु न करे कांग्रेस’

Shivraj-gave-warnings-to-Kamal-Nath-government-after-BJP-worker-murder

भोपाल।आखरी चरण की वोटिंग के दौरान हुई भाजपा कार्यकर्ता नेमीचंद तंवर की हत्या के बाद सियासत गर्मा गई है। एक बार फिर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठने लगे है। बीजेपी इसको लेकर जमकर कमलनाथ सरकार का घेराव कर रही है। वही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज ने सरकार पर जमकर हमला बोला है।शिवराज ने कहा कि हमारे कार्यकर्ता को कांग्रेस नेता ने सिर्फ इसलिए गोली मार दी, क्योंकि उन्होंने भाजपा को वोट दिया था और पार्टी के लिए काम किया था।शिवराज ने कहा कि मैं कमलनाथ सरकार का चेतावनी देता हूं यह हिंसा का खेल बंद कर आरोपियों पर कार्रवाई करे वरना सड़कों पर उतरुगां।

दरअसल, आज अपने निवास पर मीडिया से चर्चा करते हुए शिवराज ने कमलनाथ को जमकर आड़े हाथों लिया। शिवराज ने कहा कि  मध्यप्रदेश में कांग्रेस की पराजय सुनिश्चित है इसलिए वह राज्य को पश्चिम बंगाल बनाने पर तुली हुई है। हमारे कर्मठ कार्यकर्ता नेमीचंद तँवर को इसलिए गोली मार दी गई कि उन्होंने भाजपा को वोट दिया था। मैं सरकार को चेतावनी देता हूँ कि इस शांति के टापू पर हिंसा का खेल आरम्भ न करें।

शिवराज यही नही रुके उन्होंने आगे कहा कि हार से बौखलाकर कांग्रेस का हिंसा का सहारा ले रही है। सांवेर के पालिया गांव में हमारे कार्यकर्ता को कांग्रेस नेता ने सिर्फ इसलिए गोली मार दी, क्योंकि उन्होंने भाजपा को वोट दिया था और पार्टी के लिए काम किया था। कमलनाथ जी, आप मानें या न मानें, लेकिन मध्यप्रदेश समेत पूरे देश में कांग्रेस की हार सुनिश्चित है।

कमलनाथ और विधायक को दी खुली चेतावनी

वही उन्होंने  मुख्यमंत्री कमलनाथ और सांवेर के कांग्रेस विधायक तुलसी सिलावट को चेतावनी देते हुए कहा कि वो हिंसा और हत्याओं को खेल मध्य प्रदेश की धरती पर न शुरू करें। एमपी हमेशा से ही शांति का टापू रहा है। ऐसे में जो भी लोग इस हत्या में शामिल हैं, उन्हें पुलिस तत्काल गिरफ्तार करे। अगर ऐसा नहीं होगा तो भाजपा प्रदेश सरकार और प्रशासन के खिलाफ सड़कों पर उतरेगी।

गौरतलब है किमध्यप्रदेश के इंदौर में रविवार को वोटिंग के दौरान भाजपा कार्यकर्ता नेमीचंद तंवर की गोली मारकर हत्या कर दी गई।आरोप कांग्रेस नेता अरुण शर्मा  पर लगे है। बताया जा रहा है कि चुनाव को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया था और अरुण ने वाेटिंग खत्म हाेने के बाद देख लेने की धमकी दी थी और शाम को उनकी हत्या कर दी गई। घटना के बाद बीजेपी में आक्रोश है।चुनावी दौर की प्रदेश में ये पहली और बड़ी हत्या है। आरोपी फरार हैं।  बेटे राहुल के मुताबिक अरुण शर्मा कांग्रेस कार्यकर्ता है और स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट का समर्थक है।इस मामले में मंत्री सिलावट की प्रतिक्रिया जाननी चाही, लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका।