MadhyPradesh: शिवराज सरकार ने संविदाकर्मियों की पूरी की मांग, आदेश जारी

भोपाल।
उपचुनाव (by election) से पहले चौथी बार मुख्यमंत्री बने शिवराज सिंह चौहान (cm shivraj singh chouhaan) अपनी घोषणाओं को पूरा करने में जुट गए है। आए दिन शिवराज सरकार (shivraj government) द्वारा बड़े फैसले लिए जा रहे है। अब राज्य सरकार ने  खेल और युवा कल्याण विभाग (Department of Sports and Youth Welfare) में कार्यरत 540 तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी संविदाकर्मियों (Third and fourth class contract workers) की 90 फ़ीसदी मानदेय की बहु-प्रतीक्षित मांग को पूरा कर दिया है।इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए है।

दरअसल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संविदा कर्मियों को प्रावधानित नियमित पद का 90 फ़ीसदी मानदेय दिए जाने के लिए घोषणा की थी, लेकिन प्रदेश में राजनैतिक बदलाव के चक्कर में ये वही अटक गई लेकिन अब मध्यप्रदेश शासन के खेल और युवा कल्याण विभाग द्वारा स्वीकृति प्रदान कर अमलीजामा पहनाया गया।सरकार के इस फैसले के बाद विभाग में खुशी की लहर दौड़ गई। शासन के इस निर्णय से खेल विभाग में कार्यरत संविदाकर्मियों के मानदेय में करीब 5 से 15 हजार रुपये का इजाफा हुआ है।

संचालनालय खेल और युवा कल्याण द्वारा जारी आदेश के तहत अकादमी के 106 और प्रदेश के जिला खेल और युवा कल्याण कार्यालयों में पदस्थ 434 कर्मचारियों को प्रावधानित नियमित पद का 90 फ़ीसदी मानदेय का लाभ मिलेगा। आदेश जारी होते ही खेल विभाग में प्रसन्नता का माहौल बन गया। शासन द्वारा संविदाकर्मियों के हित में लिए गए इस निर्णय की मुक्त कंठ से सराहना करते हुए सभी संविदा कर्मियों ने मध्य प्रदेश शासन का आभार व्यक्त किया है।

खेल विभाग में 5 जून 2018 से पूर्व के तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी पद पर कार्यरत संविदा कर्मियों को शासन निर्देशानुसार प्रावधानित नियमित पद का 90 फ़ीसदी मानदेय का लाभ दिया गया है।

व्ही. के. सिंह, संचालक खेल और युवा कल्याण, भोपाल