शिवराज सरकार की स्वामी विवेकानंद करियर मार्गदर्शन योजना बन रही वरदान, छात्रों को हो रहा लाभ

विद्याथिर्यों को प्रशिक्षण एनआईआईटी, छिंदवाड़ा में दिया जा रहा है। इस संस्थान के साथ भी महाविद्यालय का एमओयू हो चुका है।

MP News : मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार युवाओं को रोजगार और उन्हें स्वरोजगार की तरफ प्रेरित करने के उद्देश्य से कई योजनाएं चला रही है। सरकार उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे छात्र छात्राओं के लिए प्रशिक्षक कार्यक्रम भी चला रही है जिससे स्टूडेंट्स को बहुत लाभ हो रहा है। इन्हीं में से एक है स्वामी विवेकानंद करियर मार्गदर्शन योजना (Swami Vivekananda Career Guidance Scheme)।

साइबर सिक्योरिटी, अनइथिकल हैकिंग का मिल रहा प्रशिक्षण

आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश में युवाओं को रोजगार देने के संकल्प के अनुसार उच्च शिक्षा विभाग की स्वामी विवेकानंद करियर मार्गदर्शन योजना में विद्यार्थियों को रोजगारपरक शिक्षा और आधुनिक तकनीकों का प्रशिक्षण प्रदान करने के प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में शासकीय पीजी कॉलेज छिंदवाड़ा के बीएससी अंतिम वर्ष के 63 विद्यार्थी को सिस्को कम्पनी द्वारा साइबर सिक्योरिटी, अनइथिकल हैकिंग, प्रोटेक्शन फ्रॉम फेक मैसेज एंड फेक कॉल का प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। विद्यार्थियों को कंपनी द्वारा प्रशिक्षण के बाद सर्टिफिकेट भी दिए जाएंगे।

सिस्को कंपनी में जॉब का अवसर

शासकीय पीजी कॉलेज छिंदवाड़ा के प्रोफेसर एवं स्वामी विवेकानंद करियर मार्गदर्शन योजना के छिंदवाड़ा संभागीय नोडल डॉ पीएन सनेसर ने बताया कि प्रशिक्षण के बाद कंपनी सभी विद्यार्थियों का इंटरव्यू लेगी। इसमें बेहतर प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को कंपनी की नेटवर्किंग एवं साइबर सिक्योरिटी सेल में जॉब दी जाएगी। प्रशिक्षण के आधार पर ये विद्यार्थी विभिन्न निजी कंपनियों के जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं और पीजी के लिए भी इसी प्रकार का विषय चुनने में सक्षम होंगे।

एनआईआईटी में दिया जा रहा प्रशिक्षण

गौरतलब है कि शासकीय पीजी कॉलेज छिंदवाड़ा और सिस्को के बीच मई 2022 में एमओयू संपन्न हुआ है। इसके अनुसार कंपनी, महाविद्यालय के विद्यार्थियों को प्रशिक्षण एवं रोजगार के अवसर प्रदान करेगी। प्राचार्य डॉ पीआर चंदेलकर ने बताया कि हम करियर मार्गदर्शन योजना में विद्यार्थियों के कौशल उन्नयन एवं उन्हें रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए प्रयासरत हैं। विद्याथिर्यों को प्रशिक्षण एनआईआईटी, छिंदवाड़ा में दिया जा रहा है। इस संस्थान के साथ भी महाविद्यालय का एमओयू हो चुका है। इसके तहत एनआईआईटी ने विद्यार्थियों को सर्वसुविधासंपन्न कम्प्यूटर लैब एवं इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध कराई है।