भोपाल। मध्य प्रदेश में शराब की उप दुकानों के खोले जाने पर सरकार और विपक्ष आमने सामने हो गए हैं। विपक्षी पार्टी भाजपा ने कमलनाथ सरकार पर जमकर हमला बोला है। जिस पर पलटवार करते हुए जमसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि,  सरकार द्वारा अच्छे उद्देश्य के तहत शराब को लेकर लिए गए निर्णय पर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान को राजनीति नहीं करनी चाहिये। प्रदेश सरकार द्वारा इस वर्ष एक भी नई दुकानें नहीं खोली गयी हैं। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार द्वारा चार सौ नई दुकानें खोली गयी थी। उन्होंने कहा कि सरकार शराब के अवैध व्यापार को खत्म करने की कड़ी कार्रवाई कर रही है। उन्होंने कहा कि 31 दिसंबर तक इस मामले में 672 प्रकरणों बनाए गए थे, जिसमें 94 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है।

जनसंपर्क मंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने छपाक को टैक्स फ्री करके महिला अपराधों के प्रति बेहद संवेदनशील होने का परिचय दिया है। क्योंकि छपाक फिल्म महिलाओं के खिलाफ जघन्य अपराध के बावजूद उनके जीवन में पुन: उम्मीद की रोशनी है। लेकिन चौहान और भाजपा इसका विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सामाजिक सजगता के लिए अभी ऐसे कई कदम उठाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि चौहान की सरकार के समय में प्रदेश में बलत्कार, अपहरण और छेड़छाड़ की अनेकों घटनाएं हुयी, जिनके प्रकरण आज भी न्यायालय में लंबित हैं। उनके साथी इस फिल्म के टैक्स फ्री किए जाने की घोषणा के विरोध में खड़े है। उन्होंने कहा कि वे भूल गए हैं, कि उन्होंने पाकिस्तान की एक हीरोइन की फिल्म को प्रदेश में उस समय टैक्स फ्री किया था, जब उरी में हमला हुआ था।