राजा-महाराजा अब नहीं चलेंगे, जनता समझदार है : शिवराज

shivraj-statement-on-scindia-lose-loksabha-election-mp

भोपाल। लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिले प्रचंड बहुमत से पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उत्साह से भरे नजर आ रहे हैं| नतीजों के बाद भोपाल में शिवराज ने प्रेसवार्ता कर इस जीत को मोदी और राष्ट्रवाद की जीत बताया । वही कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी, ज्योतिरादित्य सिंधिया और मुख्यमंत्री कमलनाथ पर जमकर हमला बोला। इस चुनाव में राजा महाराज भी चुनाव हार गए, इस पर शिवराज ने तंज कसते हुए कहा अब राजा महाराजा नहीं चलेंगे, जनता समझदार है| शिवराज ने कहा गुना में सिंधिया की करारी हार पर शिवराज ने कहा कि हमने शिवपुरी और अशोक नगर में सभा की, वहां लोगों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। सभाओं में लोगो ने आगे रहकर हमसे कहा भाजपा कैंडिडेट अच्छा उतारे हम समर्थन देंगे और लोगों ने भरपूर प्यार दिया। ज्योतिरादित्य सिंधिया में राजा महाराजा वाला घमंड है, वे अपने आप को महाराज बुलवाना ज्यादा पसंद करते है। लेकिन जनता समझदार है, उन्होंने मन बना लिया कि अब राजा महाराजा नही चलेंगे। लोगों ने गुस्से में कांग्रेस के खिलाफ वोट दिया है और हमारी जीत हुई।

छिंदवाड़ा में कांग्रेस की जीत पर कहा कि यहां भी जीत जाते अगर थोड़ी मेहनत और हो जाती, 29 सीट पर भाजपा का कब्जा होता।लेकिन जिस अंतर से छिंदवाड़ा में जीत हुई है उस जीत को जीत नहीं कहा जा सकता है।इधर शिवराज ने राजनीति में बाबाओं की एंट्री पर कहा कि ऐसे बाबाओं से देश को बचना होगा। एक बाबा देश को अच्छे से चला रहा है। इस दौरान नवनिर्वाचित सांसदों को सलाह दी कहा कि जमीन से जुड़ कर चले।

जातिवाद और वंशवाद पर मोदीवाद की जीत 

शिवराज ने कहा कि लोकसभा के परिणाम अभूतपूर्व है। देश मे मोदी लहर है, यह साफ नजर आ रहा था। मैंने पहले भी कहा था लेकिन मेरी कही बात को अतिशयोक्ति समझा गया।  इस चुनाव में राष्ट्रवाद, गुंडावाद, जातिवाद, वंशवाद, राजतंत्र वाद समाप्त हो गया। ये मोदीवाद की जीत है। मोदी वाद मतलब सबका साथ सबका विकास। कांगेस मोदी को ही टारगेट करती रही है। कांगेस के लिए चिंता की बात है उसे सोचना होगा कि वंशवाद कब तक चलेगा। ममता दीदी को भी सोचना होगा कि हिंसा की आग में झोंक देने से कुछ नहीं होगा। 

सरकार अपने आप गिर जाएगी

मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार की स्थिरता और विधयकों को खरीद फरोख्त के आरोपों पर पूर्व सीएम शिवराज ने कहा भाजपा किसी तरह की जोड़ तोड़ और  खरीद-फरोख्त नही करती। हम चाहतें तो पहले ही सरकार नही बनने नही देते। भाजपा की रुचि सरकार गिराने में नही, सरकार गिरना होगी तो अपने आप गिर जाएगी। अब अपने आप ही कुछ हो जाये तो पता नहीं।

हर कार्यकर्ता टाइगर है

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के ‘टाइगर’ वाले पोस्टर पर शिवराज ने कहा कि भाजपा में सभी कार्यकर्ता टाइगर है, सभी साथी और मित्र है विजयवर्गीय जी ने बंगाल में खूब मेहनत की है। मुझ पर कोई दबाव नही था, मेरी हाईकमान से बात हुई मैने कहा कि मेरा लोकसभा चुनाव लड़ने का कोई इरादा नही है और पार्टी ने उसको माना।

कमलनाथ से कर्मचारी-अधिकारी नाराज

कमलनाथ सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि केवल 1300 करोड़ बैंक को देकर आप कर्जा माफ नही कर सकते। केवल मेरे भाई का पर्चा दिखाने से नही होता। ये फालतू का स्लोगन है कि खजाना खाली है। वही शिवराज ने कहा कि कर्मचारियों और अधिकारियों को धमकाना उचित नही है जो कांग्रेस कर रहीं है।अन्याय अगर होगा तो मैं चुप नहीं बैठूँगा, मैं सभ्य हूं शालीन हु लेकिन अगर अन्याय होगा तो शांत नही रहूंगा। निर्वाचित सरकार गलत कर रही है अधिकारी कर्मचारी परेशान है।

अनुशासन समिति करेगी साध्वी का फैसला

साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ कार्रवाई के सवाल पर शिवराज ने कहा कि मैं अनुशासन समिति में नहीं हूं। समिति अपने हिसाब से फैसला लेगी। वही प्रधानमंत्री के साध्वी प्रज्ञा को माफ नही करने वाले बयान पर शिवराज ने टिप्पणी करने से मना कर दिया और कहा यह मेरा काम नही यह अनुशासन समिति का काम मैं अनुशासन समिति में नही।

राहुल गांधी पर साधा निशाना 

चौकीदार शब्द हटाने पर शिवराज ने कहा कि चौकीदार का भाव मन में हमेशा रहेगा। राहुल ने बिना किसी तथ्य के आरोप लगाये, इसलिए हम सबने अपने नाम के आगे चौकीदार लगाया था। बीजेपी किसी तरह की जोड़ा तोड़ी में भरोसा नहीं करती है।  अमेठी हमारे परिवार की जागीर है, लेकिन अंततः समझ गए थे इसलिए उत्तर से दक्षिण की ओर प्रस्थान कर लिया।