भोपाल। मध्य प्रदेश के राजगढ़ में महिला एसडीएम द्वारा बीजेपी कार्यकर्ता को थप्पड़ जड़ने के मामले का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मामले में अफसरों को सख्त लहजे में चेतावनी दी है। उन्होंने ब्यावरा में भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि, हम अपनी तरफ से भाजपा के कार्यकर्ता किसी को छेड़ते नहीं हैं, लेकिन जब कोई हमें छेड़ देता है, तो हम छोड़ते नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि, मैडम, आपको किसने अधिकार दिया था, प्रशासनिक अधिकारी आप हैं, क्या आपको संविधान अधिकार देता है कि जब चाहें किसी को भी थप्पड़ जड़ दें? क्या कानून आपको इसकी इजाजत देता है? उन्होंने कहा, “क्या सोचा था मैडम, आप कार्यकर्ता को थप्पड़ मार दोगे और हम चुप-चाप घरों में बैठकर भूल जाएंगे, क्या भारत माता की जय बोलने पर थप्पड़ मारे जाएंगे और हम आंख बंद करके बैठ जाएंगे। ये भूल है मैडम।”

शायराना अंदाज़ में किया हमला
शिवराज ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अफसरों को सीधए तौर पर चेतावनी दी है। उन्होंंने एक शेर भी पढ़ा। उन्होंने कहा कि, दो दिन की बहारे हैं जग में, कब जोर किसी का चलता है, जुल्म का सूरज लाख चढ़े, हर शाम को लेकिन ढलता है।

पूर्व मंत्री ने दिया विवादित बयान
राजगढ़ कलेक्टर निधि निवेदिता और डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा के साथ हुए भाजपा नेताओं के विवाद के बाद आज राजगढ़ में भाजपा ने सभा कर जमकर हमला बोला| इस दौरान भाजपा नेता व पूर्व राज्यमंत्री बद्रीलाल यादव के बोल बिगड़ गए। उन्होंने महिला कलेक्टर को लेकर आपत्तिजनक शब्दो का प्रयोग करते हुए हमला बोला। भाजपा नेता के बयान पर कांग्रेस आक्रामक हो गई है।