बोट पर सवार होकर बाढ़ग्रस्त इलाके में पहुंचे शिवराज, बोले-‘चिंता न करें, हर संभव मदद करेंगे’

भोपाल/होशंगाबाद, डेस्क रिपोर्ट| मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में भारी बारिश से जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है| 7 लाख हेक्टर से अधिक की फसलें बर्बाद हुई हैं| राहत कार्य अभी जारी रहेगा| इधर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) बोट से बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा कर रहे हैं|

सोमवार को सीएम आर्मी की बोट से होशंगाबाद के आसपास के बाढ़ ग्रस्त इलाकों का दौरा करने पहुंचे। उन्होंने बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात कर कहा कि चिंता न करें इस आपदा से निपटने के लिए सरकार आपकी हर संभव मदद करेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान होशंगाबाद से 25 किलोमीटर दूर विकासखंड बाबई के सबसे अधिक बाढ़ प्रभावित ग्राम छोटी बालाभेंट में आर्मी के जवानों के साथ बोट से मौके पर जाकर बाढ़ स्थिति का जायजा लिया। बाढ़ में फंसे लोगों को हाल चाल जाना। उन्हें भोजन के पैकेट एवं पानी की बोतल वितरित की।

इस दौरान उनके साथ कलेक्टर और एसपी भी मौजूद रहे। इसके पहले उन्होंने बाढ़ से प्रभावित आदमगढ़, भोपाल तिराहे पर आमजन से हालचाल भी पूछे। सीएम ने अधिकारियों को बाढ़ प्रभावित नागरिकों की सहायता के निर्देश दिए।

बचाव दल को दिया धन्यवाद
मुख्यमंत्री ने बचाव में जुटी सभी टीमों का धन्यवाद दिया है| जिन्होंने अपनी जान पर खेल कर डूबते हुए कई गांव के लोगों को बचाया है। सीएम ने कहा पांच हेलीकॉप्टर काम में लगे थे और उन्होंने कई गांवों में फंसे करीब 264 लोगों को एयरलिफ्ट कर बचाया है, उन सभी को मेरा धन्यवाद| सीएम ने कहा अति वर्षा से उत्पन्न विपरीत परिस्थितियों से मत घबराइये। मैं और पूरा प्रशासन आपको इस आपदा से निकालने में दिन-रात लगा हुआ है। आपको हर कठिनाई से निकालकर आपका जीवन पटरी पर शीघ्र ले आऊंगा।

बाढ़ का पानी उतरते  ही बीमारी का खतरा
सीएम ने कहा बारिश थम गई है, बाढ़ के पानी ने उतरना शुरू किया है लेकिन होशंगाबाद में मां नर्मदा नदी का पानी खतरे के निशान के ऊपर बह रहा है, कई गांव जलमग्न है लेकिन प्रशासन सब जगह पहुंच चुका है | अब बड़ी चुनौती सामने है, गांव से पानी उतर रहा है, वहां राहत पहुंचाना है। इन क्षेत्रों में अब हैजा, मलेरिया, डेंगू, डायरिया जैसी बीमारियां फैलने का खतरा है। स्वास्थ्य विभाग इन जगहों पर बीमारियों से बचाव के लिए अभियान चलाएगा|