‘महाराज’ और उनके समर्थक पूर्व MLA को लेकर शिवराज का बड़ा बयान

भोपाल।
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के खुलासे और कांग्रेस द्वारा ‘महाराज’ को लेकर जारी वीडियो के बाद प्रदेश की सियासत में जमकर भूचाल मचा हुआ है ।कांग्रेस ने जहां महाराज और शिवराज सरकार की घेराबंदी शुरु कर दी वही बीजेपी सिंधिया के समर्थन में उतर आई है और कांग्रेस पर जमकर निशाने साध रही है। प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा के बाद अब मुख्यमंत्री शिवराज ने ट्वीट कर कांग्रेस को आडे हाथों लिया है।मंत्रिमंडल विस्तार से पहले शिवराज का ये ट्वीट खास माना जा रहा है।

शिवराज ने ट्वीट कर लिखा है कि पिछली कांग्रेस सरकार ने प्रदेश में त्राही-त्राही मचा दी थी। भ्रष्टाचार में लिप्त सरकार को उखाड़ फेंकने में मदद करने वाले ही असली लीडर, असली हीरो होते हैं।सिंधिया जी ऐसे नेता है, जिन्होंने प्रदेश का हित सर्वोपरि रखा और भ्रष्ट सरकार से अपने साथियों समेत किनारा किया।

आगे शिवराज ने लिखा है कि मैं मेरे उन सभी साथियों का भी सम्मान करता हूँ, जिन्होंने कमलनाथ जी की स्वकेंद्रित बँटाधार सरकार को गिराने के लिए और प्रदेश की उन्नति के लिए अपनी-अपनी राजनीतिक कारकिर्दगी को दाँव पे लगा दिया! सारे पदों को त्याग दिया! अति कठोर निर्णय लिए और उस पर अडिग रहे।

इतना ही नही आगे शिवराज ने लिखा कि सरकार बनाने और चलाने के लिए प्रजा हित को सर्वोपरि रखना पड़ता है। जो प्रदेश के मुखिया प्रजा को छोड़ एक परिवार की पूजा में लिप्त रहते हैं, वो कभी जनता की सरकार बना नहीं सकते और अगर गलती से कभी बना भी लें तो ज़्यादा दिन चला नहीं सकते। ये जो पब्लिक है वो सब जानती है।

बता दे कि दो दिन पहले कमलनाथ ने बीजेपी नेता सिंधिया और कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय पर सरकार गिराने के गंभीर आरोप लगाए थे।हालांकि विवाद बढ़ते हुए उन्होंने दिग्विजय के बयान पर सफाई दे दी थी। वही शनिवार को कांग्रेस ने एक वीडियो जारी कर सिंधिया को जयचंद कहा था इसमें नए महाराज और पुराने महाराज की तुलना करके जमकर घेराबंदी की कोशिश की है। जिसके बाद बीजेपी और समर्थक हमलावर हो गए है।