केजरीवाल पर शिवराज का तंज, ‘आपके नाम में ‘वॉल’ है तो क्या ऐसी दीवारें खड़ी करेंगे’

भोपाल| कोरोना संकट काल (Corona Crisis) में दिल्ली (Delhi) की केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) ने बड़ा फैसला लेते हुए साफ कर दिया है कि बाहरी मरीजों का इलाज अब राज्य सरकार के अस्पतालों में नहीं होगा। जिससे अब दिल्ली से बाहरवाले लोगों को दिल्ली में इलाज करवाने में दिक्कतों का सामना करना होगा। दिल्ली सरकार के अंतर्गत आने वाले अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली के लोगों का ही इलाज होगा। केंद्र सरकार के अधिकार क्षेत्र वाले अस्पतालों जैसे एम्स समेत अन्य में कोई भी मरीज इलाज करा सकता है। केजरीवाल के इस फैसलों को लेकर अलग अलग प्रतिक्रियाएं आ रही हैं| मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने केजरीवाल पर ट्वीट कर निशाना साधा है|

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली कैबिनेट ने फैसला लिया है कि राज्य सरकार के अस्पताल अब दिल्ली के लोगों के लिए होंगे। केजरीवाल के इस फैसले पर शिवराज सिंह चौहान ने निशाना साधते हुए ट्वीट किया है| उन्होंने लिखा ‘केजरीवाल जी के नाम में ‘वॉल’ है तो क्या ऐसी दीवारें खड़ी करेंगे??!! आख़िर ऐसा भेदभाव क्यों?

गौरतलब है कि देश की राजधानी दिल्ली कोरोना के कहर से गुजर रही है| इस बीच मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने फैसला किया है कि राज्य सरकार के अस्पताल अब दिल्ली के लोगों के लिए होंगे। केंद्र सरकार के अस्पताल में कोई भी इलाज करा सकता है। दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार दोनों के अस्पतालों में 10,000- 10,000 बेड हैं। सीएम केजरीवाल ने बताया कि मार्च के महीने तक दिल्ली के सारे अस्पताल पूरे देश के लोगों के लिए खुले रहे। किसी भी समय हमारे दिल्ली के अस्पतालों में 60 से 70 फ़ीसदी लोग दिल्ली से बाहर के थे। लेकिन कोरोना के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं ऐसे में आप की सरकार बेड का इंतजाम कर रही है।