कोरोना को लेकर शिवराज के सख्त तेवर, दो अधिकारियों को किया निलंबित

भोपाल

मध्य प्रदेश (madhya pradesh) के मुख्यमंत्री (chief minister) शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने कोरोना (corona) को लेकर सख्त तेवर अपना लिए हैं।बुधवार को मंत्रालय में हुई कोरोना के संबंध में बैठक में शिवराज ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे प्रदेश में कोरोना से संबंधित एक एक मृत्यु की डिटेल एनालिसिस रिपोर्ट (detail analysis report) आवश्यक रूप से दें।

कोरोना की की समीक्षा में चौहान के साथ स्वास्थ्य मंत्री डा.नरोत्तम मिश्रा (dr.narottam mishra) और मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस मौजूद थे । सीएम चौहान ने इस अवसर पर निर्देश दिए कि कोरोना पीड़ितों को सर्वश्रेष्ठ इलाज उपलब्ध कराकर कोरोना से होने वाली मौतो को कम किया जाए और अनावश्यक रूप से मरीजों को दूसरे जिले अथवा अस्पतालों में रेफर न किया जाए । चौहान ने हमीदिया अस्पताल से चिरायु अस्पताल रेफर किए गए दो मरीज, जिनकी मौत हो गई थी, के मामले में तुरंत जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही सागर जिले की समीक्षा के दौरान कोरोना के बारे में अपडेट ना देने पर वहां के सीएमएचओ (cmho) को तुरंत निलंबित करने के निर्देश भी मुख्यमंत्री ने दिए। नीमच जिले की समीक्षा में पाया गया कि जावद में एक साथ कोरोना के मरीज बढ़े और वहां आवश्यक सावधानी नहीं बरती गई। इस पर एसडीएम जावद को तुरंत निलंबित कर दिया गया ।इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने मनरेगा में गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए और मनरेगा में मशीनें लगाने वालों की मशीनें जप्त कर FIR करने के भी निर्देश दिए।