शोभित नाथ शर्मा ने 10 लाख की कोकोनट रीसाइक्लिंग मशीन अयोध्या राम मंदिर में की भेंट, जानिए इसकी खासियत

भोपाल, अनुराग शर्मा

शहर के प्रसिद्ध पर्वतारोही और समाज सेवी शोभित नाथ शर्मा द्वारा अयोध्या में बन रहे श्री राम मंदिर में कोकोनट रीसाइक्लिंग मशीन भेंट की जा रही है, जिसकी कीमत करीबन 10 लाख रुपए है। मशीन की खासियत यह है कि मशीन का निर्माण स्वयं शोभित नाथ शर्मा द्वारा ही किया गया है । जिसमें लगे सारे कलपुर्जे भारत में ही बने हैं, यह मशीन पूर्णता मेड इन इंडिया है ।

दरअसल, मंदिर में प्रसाद के लिए चढ़ाए जाने वाले नारियल का अंदरूनी हिस्सा तो काम में आ जाता है परंतु उसका बाहरी खोल इधर-उधर फेंक दिया जाता है, जिसका पूर्णता पतन होने में 5 से 7 साल का समय लग जाता है। पढ़े हुए खोल से एक तो खाली जमीन खराब होती है साथ ही साथ बारिशों में खोल में इकट्ठा हुआ पानी से मलेरिया के मच्छर और बदबू उत्पन्न होती है, जिस वजह से आसपास रहने वाले लोगों को कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ता है, इस समस्या से निजात पाने के लिए यह मशीन बहुत कारगर है।

इस मशीन के द्वारा बचे हुए खोल को प्रोसेस किया जाता है, जिससे कोकोपीट पाउडर नारियल के रेशे एवं खोल की टुकड़े मिलते हैं। कोकोपीट पाउडर का इस्तेमाल पेड़ों में होता है जिससे कोकोपीट पाउडर की पानी सोक लेने की प्रवृत्ति से काफी देर तक पेड़ की जड़ों में नमी बरकरार रहती है, जिससे पेड़ को पर्याप्त पोषक तत्व मिलता है, जिससे पानी की खपत भी कम होती है।

जहां सामान्य रूप से पेड़ों में दिन में दो बार पानी डालने का चलन है, वहीं इसके इस्तेमाल करने से 2 दिन में एक ही बार पेड़ों में पानी डालने की आवश्यकता होगी जिससे काफी समय और पैसों की बचत की जा सकती है। समय बीते बीते यही कोकोपीट पाउडर ऑर्गेनिक फर्टिलाइजर का भी काम करता है और पेड़ को बढ़ने में मदद करता है। नारियल के रेशे गद्दा बुनने के काम आते है एवं खोल से एक्टीवेटेड कार्बन प्राप्त होता है जो कि दवाइयों की कंपनियां अपने दवाइयों में इस्तेमाल करती हैं।

शोभित नाथ शर्मा द्वारा यह बताया गया है कि जो नारियल श्रद्धालुओं द्वारा चढ़ाया जाएगा वह नारियल का वेस्ट मैनेजमेंट इस मशीन द्वारा किया जाएगा। साथ ही साथ युवाओं को रोजगार पाने का अवसर मिलेगा। एस मशीन द्वारा बनाया हुआ कोकोपीट पाउडर श्री राम मंदिर में ही स्थित पौधों में इस्तेमाल होगा जिससे प्राकृतिक सुंदरता के साथ पानी की बचत भी की जा सकेगी।

शोभित नाथ शर्मा ने बताया कि मैंने यह मशीन अपने हाथों से अयोध्या में बन रहे श्री राम मंदिर के लिए तैयार की है मेरी या इच्छा है कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट इस भेंट को स्वीकार करें और मैं यह संकल्प लेता हूं कि पूरी जिंदगी एक मशीन का रखरखाव एवं संचालन पूर्ण सेवा भाव से निशुल्क करूंगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here