..तो क्या मई तक MP में 50 हजार पार कर जाएगा मरीजों का आंकड़ा

भोपाल| मध्य प्रदेश में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है| भोपाल, इंदौर, उज्जैन समेत कई जिले अब तक इसकी चपेट में आ चुके हैं| जहां मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है| अगर कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या इसी तरह बढ़ती रही तो मई के अंत तक यह आंकड़ा 50 हजार तक पहुंच सकता है। आईआईएम इंदौर की रिसर्च में यह बात सामने आई है|

आईआईएम इंदौर के प्रो. सायंतन बैनर्जी के साथ अमेरिका की मिशिगन यूनिवर्सिटी के प्रो. वीरा, प्रो. रूपम भट्टाचार्य, प्रो. शारिक मोहम्मद और प्रो. उपाली नंदा ने यह शोध किया है। भारत और अमेरिका की मिशिगन यूनिवर्सिटी के पांच प्रोफेसर के साथ मिलकर मार्च से कोविड-19 संक्रमण के मामलों का अध्ययन और आंकड़ों का विश्लेषण किया जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बायो स्टेटिक्स के विशेषज्ञ का मानना है कि संक्रमितों को यदि उनके हाल पर छोड़ दिया जाता है तो मई अंत तक प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या 50 हजार के पार पहुंच जाएगी। वहीं प्रशासन ने कारगार कदम उठाये तो मई अंत तक सिर्फ तीन हजार कोरोना मरीजों तक संक्रमण को सीमित किया जा सकता है। विशेषज्ञों का कहना है कि सिर्फ लॉकडाउन संक्रमण से निपटने का कारगर तरीका नहीं है। अगर इसी रफ्तार से मामले बढ़ते रहे तो प्रदेश में अप्रैल अंत तक ढाई हजार मामले होंगे|