हेलीकॉप्टर से बारात लेकर पहुंचा किसान का बेटा, आसमान से बरसे फूल, देखिये वीडियो

son-of-the-farmer-arrived-with-a-procession-from-helicopter-to-bring-his-bride

भोपाल/कालापीपल।

शादी लोगों को जीवन का सबसे अहम लम्हा माना जाता है। शादी को  यादगार बनाने के लिए तरह-तरह के इंतजाम करता है। कोई अपने लिए लग्जरी गाड़ी और दूल्हे के लिए महंगी से महंगी लग्जरी गाड़ी का उपयोग करते है।  जिससे उनकी शादी जीवन संगिनी और लोगों को जीवन भर याद रहे। ऐसी ही एक बारात शाजापुर जिले के कालापीपल के गांव खरदोन्नकलां में देखने को मिली। जहां दूल्हा अपनी बारात किसी बग्गी या लग्जरी गाड़ी में नहीं बल्कि हेलीकाप्टर से लेने पहुंचा। गांव में इस हाईटेक बारात को देखने के लिए लोगों की भीड़ लगी रही। बारात विदा करने गई ज्यादातर महिलाएं और बच्चे हेलीकॉप्टर और दूल्हे के साथ सेल्फी लेने के लिए आतुर दिखे।

हेलीकॉप्टर से बारात लेकर पहुंचा किसान का बेटा, आसमान से बरसे फूल, देखिये वीडियो

मिली जानकारी के अनुसार,  शाजापुर के ग्रामीण इलाके कालापीपल के खरदोन्नकलां गांव के पूर्व सरपंच नंदकिशोर पाटीदार की बेटी निहारिका की शादी भोपाल से सटे मिसरोद इलाके के उद्देश्य पाटीदार से तय हुई थी। गुरुवार को दूल्हा उद्देश बग्गी या मोटर से नही बल्कि हेलीकॉप्टर से बारात लेकर गांव पहुंचा।शाम करीब 5 बजे हेलीपेड पर जब हेलीकॉप्टर पहुंचा तो उसे और दूल्हे को देखने के लिए बड़ी संख्या में ग्रामीण जमा हुए। हेलीपेड पर स्वागत-सत्कार के बाद दूल्हा विवाह स्थल पर पहुंचा और विवाह की सारी रस्में पूरी की गई। यहां मौजूद पंडितों ने दूल्हे का तिलक कर मंगलाचरण व स्वस्ति वाचन किया। इसके बाद दूल्हा अपने दादा के साथ हेलीकाॅप्टर में सवार होकर वापस रवाना हो गया ।फिर जैसे ही दुल्हे का हेलिकॉप्टर मिसरोद पहुंचा तो यहां भी देखने वालो की भीड़ जमा हो गई। 

हेलीकॉप्टर से बारात लेकर पहुंचा किसान का बेटा, आसमान से बरसे फूल, देखिये वीडियो

दरअसल,  दूल्हे के पिता मिसरोद में खेती-किसानी करते हैं, जबकि दूल्हा एमबीए करने के बाद बैंक में नौकरी कर रहा है।दूल्हे के पिता किसान नर्मदा प्रसाद पाटीदार चाहते थे उनके बेटे की शादी धूमधाम से हो और शादी कोई ऐसी वैसी नहीं बल्कि आसमान से उनके बेटे की बारात जाए। इस दौरान आसमान से ही फूलों की बारिश हुई।वही दूल्हे ने बताया कि उसकी व उसके परिवार की इच्छा विवाह समारोह  में कुछ अलग हट कर करने की थी। विवाह को यादगार बनाने के उद्देश्य से ही हेलीकाॅप्टर से दुल्हनियां को लेने जाने का कार्यक्रम बनाया। शुक्रवार को शाजापुर कलां से इसी हेलीकाॅप्टर से वे दुल्हन लेकर वापस लौटेंगे।